ASP के सुसाइड नोट में खुलासा, अफसरों को अपने प्यार में फंसाती थी पूनम

नई दिल्ली(24 दिसंबर): एटीएस में एएसपी रहे आशीष प्रभाकर ने एक नहीं दो सुसाइड नोट छोड़े हैं। इसमें उन्होंने लिखा है, "पूनम कोचिंग के बहाने अफसरों को अपने प्यार में फंसाती थी, फिर उन्हें ब्लैकमेल करती थी। मुझे भी वह चार साल से ब्लैकमेल कर रही थी।"

- बता दें कि आशीष ने गुरुवार देर रात कार में अपनी महिला मित्र पूनम को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार कर जान दे दी थी।

- पुलिस को आशीष के लिखे दो सुसाइड नोट्स मिले हैं। एक पुलिस के नाम तो दूसरा परिवार के नाम है।

- इसमें लिखा है, "पूनम मुझे पिछले 4 साल से ब्लैकमेल कर रही थी। वह आरएएस की कोचिंग के बहाने मेरे संपर्क में आई।"

- "पूनम अपने प्यार के जाल में फंसाती आैर फिर ब्लैकमेल करती थी। इसलिए मैं उसे सजा देना चाहता था।"

- "वह मुझे ही नहीं और अधिकारियों को भी अपने प्यार में फंसाती और ब्लैकमेल करती।"

- "मैं अपने परिवार से प्यार करता हूं। मैं अपने बच्चों से प्यार करता हूं। मैं सबके लिए कुछ करना चाहता था।"

- आशीष ने जिस महिला मित्र पूनम की गोली मारकर हत्या की, वह अलवर के राजगढ़ की रहने वाली है।

- आशीष ने जयपुर में कोचिंग इंस्टीट्यूट खोला था। यहीं पूनम उनके कॉन्टैक्ट में आई।

- फिलहाल पुलिस अभी इस लड़की के बारे में कुछ नहीं बता रही है।

- आशीष की पत्नी अनीता जयपुर में मायके में रह रही थीं। प्रभाकर को अजमेरी गेट के पास पुलिस क्वार्टर मिला हुआ था।

- प्रभाकर के साथी अफसरों के मुताबिक, वे उदास रहते थे। राजस्थान पुलिस एकेडमी (आरपीए) में 10 महीने की ट्रेनिंग पूरी कर 20 दिन पहले ही एटीएस में प्रशासनिक काम देखने लगे थे।

- आशीष ने गाड़ी में सुसाइड नोट भी छोड़ा है।

- पुलिस मान रही है कि आशीष ने सुसाइड नोट महिला मित्र से मिलने से पहले लिखा था।