Blog single photo

सरकारी लैटर पैड से हटेगा दीनदाल उपाध्याय का लोगो

राजस्थान में अशोक गहलोत कैबिनेट ने बुजुर्गों की पेंशन बढ़ाने के साथ कई फैसलों पर मुहर लगा दी है। प्रदेश में अब बुजुर्गों को 500 रुपये की जगह 750 रुपये प्रति महीने पेंशन मिलेगी

के जे श्रीवस्तन, न्यूज 24, जयपुर (29 दिसंबर): राजस्थान में अशोक गहलोत कैबिनेट ने बुजुर्गों की पेंशन बढ़ाने के साथ कई फैसलों पर मुहर लगा दी है। प्रदेश में अब बुजुर्गों को 500 रुपये की जगह 750 रुपये प्रति महीने पेंशन मिलेगी। साथ ही मेयर सभापति और अध्यक्षों के चुनाव भी प्रत्यक्ष होंगे। यानि सीधे जनता इनका चुनाव करेगी। साथ ही हरदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्याल और अम्बेडकर लॉ यूनिवर्सिटी को फिर से शुरू किया जाएगा। इतना ही नहीं गहलोत कैबिनेट ने सरकार लैटर पैड से दीनदयाल उपाध्याय का लोगो हटाने का फैसला किया है। इस पर केवल अशोक स्तम्भ का लोगो ही रहेगा।  आपको बता दें कि मंत्रियों के विभागों के बंटवारे के बाद आज पहलीबार अशोक गहलोत कैबिनेट की बैठक हुई। इस बैठक में गहलोत सरकार ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को सरकारी नीतिगत दस्तावेज बनाने का फैसला किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनावी घोषणा पत्र को सीएस को भेजकर कहा कि इस पर हम पांच साल काम करेंगे। रिफायनरी के काम में तेजी लाने तथा लोकसेवा की गारंटी एक्ट को फिर से प्रभावी बनाने का निर्णय भी बैठक में किया गया।  

बैठक की बड़ी बातें...

- मंत्री हर दिन 9:00 से 10:00 बजे के बीच जयपुर में जनसुनवाई करेंगे

- जन समस्याओं की जानकारी के साथ-साथ समाधान की भी कोशिश करेंगे  

- हरिदेव जोशी पत्रकारिता विवि तथा भीमराव अंबेडकर लॉ यूनिवर्सिटी को फिर से शुरू किया जाएगा  

- फसली ऋण माफी के लिए समिति का गठन होगा

- सरकार लैटर पैड से दीनदयाल उपाध्याय का लोगो हटेगा। इस पर केवल अशोक स्तम्भ का लोगो ही रहेगा  

- नरेगा पर फिर से बनेगी कार्य योजना

- स्थानीय निकाय में मेयर सभापति और अध्यक्ष के चुनाव उत्तर प्रदेश निर्वाचन प्रणाली से होंगे

- पंचायतीराज चुनाव से शैक्षणिक योग्यता समाप्त होगी। पिछली सरकार के नियमों को बदला जाएगा। जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य की 10वीं, सरपंच के लिए 8वीं पास की अनिर्वायता समाप्त होगी

- संविदाकर्मियों की समस्याओं के समाधान के लिए कमेटी का गठन होगा

- जवाबदेही व पारदर्शी सरकार के लिए एक्ट लागू होगा

- कर्ज माफी पर जल्द कमेटी का गठन होगा। डिफॉल्टर के अलावा अन्य किसान भी अब लाभान्वित होंगे

NEXT STORY
Top