'अंगूरी भाभी’ को मिला MNS का साथ, सबको चेताया

नई दिल्ली(21 अप्रैल): महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) ‘भाभी जी घर पर हैं’ टीवी सीरियल में 'अंगूरी भाभी’ का किरदार अदा कर फेमस हुईं ऐक्ट्रेस शिल्पा शिंदे के पक्ष में खुलकर आ गई है। एमएनएस ने इसे पूरे मामले को मराठी रंग देने की कोशिश की है।

दरअसल शिल्पा ने गुरुवार को राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की फिल्म विंग महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट कर्मचारी सेना के अध्यक्ष अमिय के खोपकर साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान राज ठाकरे के चचेरे भाई जितेंद्र की पत्नी शालिनी भी वहां मौजूद रहीं। शालिनी ने CINTAA के खिलाफ झूठे आरोप लगाने की बात कहते हुए कहा कि शिल्पा अकेली थी जिन पर शो छोड़ने के आरोप लगे। उनके अलावा भी कई लोगों ने शो छोड़ा था लेकिन किसी भी एसोसिएशन ने उन पर सवाल नहीं उठाए।

शालिनी ने कहा कि किसी कलाकार से कोई उसका संवैधानिक हक छीन नहीं सकता। फेडरेशन द्वारा भेजा गया पत्र शिल्पा से यह अधिकार छीनता है। अमिय खोपकर ने भी कहा कि वह CINTAA को किसी भी हाल में कोई बेतुका आदेश जारी नहीं करने देंगे। MNS फिल्म विंग ने इस मामले को मराठी बनाम गैर मराठी का मुद्दा बताते हुए कहा कि एक मराठी कलाकार को मराठी फिल्मों में काम करने से नहीं रोका जा सकता। विंग ने कहा कि यदि शिल्पा को अन्य सीरियलों में काम करने से रोका गया तो पार्टी अपने जाने-पहचाने अंदाज में इसका विरोध करेगी। 

वहीं शिल्पा ने कहा है कि उन्हें MNS की फिल्म यूनिट विंग ने इस मामले को हल करने तथा कोई रास्ता निकालने के लिए बुलाया। शिल्पा ने प्रोड्यूसर कोहली पर उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि क्या केवल एक कॉन्ट्रैक्ट साइन करने का मतलब यह है कि मैं सर से पांव तक किसी के द्वारा खरीद ली गई हूं? उन्होंने कहा कि प्रोड्यूसर के साथ उनकी लड़ाई अब कानूनी हो गई है। अब CINTAA या और कोई एसोशिएसन उन्हें रोक नहीं सकती है। शिल्पा ने इस बात से इनकार किया कि उन्हें शो में रोल बढ़ाए जाने का ऑफर दिया गया था।