Blog single photo

कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भारतीय रेलवे का बड़ा तोहफा

कुंभ मेला 2019 में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रेलवे 800 स्‍पेशल ट्रेन चलाएगा। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ये ट्रेनें विभिन्‍न स्‍टेशनों से प्रयागराज के बीच चलेंगी। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ये ट्रेनें सामान्‍य ट्रेनों के अलावा चलाई जाएंगी।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 दिसंबर): कुंभ मेला 2019 में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रेलवे 800 स्‍पेशल ट्रेन चलाएगा। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ये ट्रेनें विभिन्‍न स्‍टेशनों से प्रयागराज के बीच चलेंगी। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ये ट्रेनें सामान्‍य ट्रेनों के अलावा चलाई जाएंगी।  

नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के पीआरओ एनसीआर अमित मालवीय का कहना है 'कुंभ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं और टूरिस्‍टों के लिए देश के हर रेलवे जोन से छह स्‍पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी।' उन्‍होंने बताया कि रेलवे 5,000 प्रवासी भारतीयों को प्रयागराज से नई दिल्‍ली ले जाने के लिए पांच स्‍पेशल ट्रेन चलाने की योजना बना रहा है। ये लोग वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस में हिस्‍सा लेने के बाद कुंभ मेले में आएंगे। इसके बाद इन्‍हें नई दिल्‍ली में गणतंत्र दिवस समारोह में ले जाया जाएगा।

मालवीय ने यह भी जानकारी दी कि स्‍पेशल ट्रेनों के 1,400 कोच और एनसीआर जोन से चलने वाली ट्रेनों पर विनाइल के पोस्‍टर लगाकर कुंभ मेले की ब्रैंडिंग की जाएगी, ताकि देश भर में इस धार्मिक मेले का संदेश पहुंच सके। इन कोचों में कुंभ मेले की रंगीन और आकर्षक तस्‍वीरें और प्रयागराज की प्रसिद्ध इमारतों के फोटो लगे होंगे।

पीआरओ मालवीय का कहना था, 'रेलवे ने ''पेंट माई सिटी'' पहल को अपने स्‍टेशनों और रेलवे कॉलोनियों में जगह देकर कुंभ मेले की बड़े स्‍तर पर ब्रैंडिंग की है।' उन्‍होंने यह भी बताया कि स्‍थानीय संस्‍कृति को बढ़ावा देने के लिए संस्‍कृति मंत्रालय के अंतर्गत नॉर्थ सेंट्रल जोन कल्‍चरल सेंटर (एनसीजेडसीसी) की ओर से प्रयागराज और उसके आसपास के क्षेत्र से जुड़ी कला, संस्‍कृति और परंपरा को बढ़ावा देने के लिए यात्री विश्रामालय के आसपास स्‍टॉल लगाए जाएंगे।

मालवीय ने जानकारी दी कि इलाहाबाद जंक्‍शन रेलवे स्‍टेशन पर लगभग 10 हजार यात्रियों को समायोजित करने के लिए चार बड़े यात्री विश्रामालय बनाए गए हैं। यहां पर वेंडिंग स्‍टॉल, वॉटर बूथ, टिकट काउंटर, एलसीडी टीवी, सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली, सीसीटीवी कैमरा और महिला व पुरुषों के लिए अलग-अलग शौचालय होंगे। इसी तरह के यात्री विश्रामालय दूसरे स्‍टेशनों पर भी बनाए जाएंगे।

NEXT STORY
Top