रिटायर्ड और मौजूदा कर्मियों को बड़ा तोहफा देने जा रहा है रेलवे

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 16 जून ): भारतीय रेलवे अपने कर्मचारियों को बड़ी सुविधा देने की तैयारी कर रहा है। रेलवे की तरफ से किए गए फैसले के अनुसार अब कर्मचारियों और सेवानिवृत कर्मियों को चिकित्सा कार्ड की जगह क्रेडिट कार्ड जैसे स्वास्थ्य कार्ड जारी किए जाएंगे। इन कार्ड पर विशिष्ट नंबर अंकित होंगे. रेलवे कर्मचारियों को दिए गए मौजूदा कार्ड की प्रक्रिया काफी जटिल है। अभी जोनल रेलवे की तरफ से जारी हेल्थ कार्ड बुकलेट के रूप में होता है जो राशन कार्ड की तरह लगता है।बोर्ड के आदेश में कहा गया है कि 15 वर्ष तक के लाभार्थियों को जारी किए जाने वाले मेडिकल कार्ड की वैधता पांच साल की होगी। यह अवधि खत्म होने के बाद उसका नवीनीकरण करना होगा। पंद्रह वर्ष से अधिक उम्र वाले लाभार्थियों को जारी कार्ड उसके 40 वर्ष तक का होने तक वैध रहेगा। इसके बाद उसे रिन्यू कराना होगा। इस मामले में सेवानिवृत्ति के बाद कार्ड को फिर रिन्यू करना होगा। बता दें कि इस समय रेलवे में 13 लाख कर्मचारी हैं, जबकि पेंशनभोगियों की संख्या भी लगभग इतनी ही है।  

हर कार्ड के ऊपरी हिस्से में एक रंगीन पट्टी होगी। इस पट्टी से पता चलेगा कि कार्ड धारक मौजूदा कर्मचारी है या सेवानिवृत्त कर्मी है या फिर आश्रित है। कार्ड धारक की उम्र 15 वर्ष से कम होने पर पांच साल के लिए कार्ड जारी किया जाएगा और उसके बाद उसका नवीनीकरण कराना होगा। 15 वर्ष से अधिक के कार्ड धारकों को एक बार 40 साल का होने पर और दूसरी बार रिटायर होने के बाद नवीनीकरण कराना होगा।