लाउडस्पीकर के जरिए मिलेगी क्रॉसिंग पर आने वाली ट्रेन की सूचना

नई दिल्ली (12 नवंबर): बरेली में हाल ही में हुई रेलवे क्रॉसिंग के पास ट्रेन-टैंकर की भिड़ंत की घटना को रेलवे ने गंभीरता से लिया है। इस घटना के बाद रेलवे ने क्रॉसिंग पर लाउडस्पीकर लगाकर लोगों को सावधान करने का फैसला किया है। आपको बता दें कि 26 अक्टूबर को हुई इस घटना में टैंकर के ड्राइवर की मौत हो गई थी जबकि ट्रेन के कई यात्री भी घायल हो गए थे। क्रॉसिंग पर लगने वाले लाउडस्पीकर से लोगों को आने वाली ट्रेन के बारे में जानकारी दी जाएगी।

उत्तरी पूर्वी रेलवे इज्जतनगर डिविजन के पीआरओ राजेंद्र सिंह ने बताया, '145 मानव रहित क्रॉसिंग के साथ सभी 632 क्रॉसिंग में पटरी के दोनों तरफ लाउडस्पीकर लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त सभी सिग्नल को गेट के साथ इंटरलॉक भी किया जाएगा।' रेलवे राज्य मंत्री राजेन गोहैन के अनुसार, पिछले दो साल में 360 लोग ट्रेन एेक्सीडेंट में मारे गए हैं। इनमें से 110 लोग देश की अलग-अलग रेलवे क्रॉसिंग में हुए 55 हादसों में मारे गए।  राज्यसभा सदस्य चुनीभाई गोहेल द्वारा उठाये गए एक सवाल के जवाब में गोहैन ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2016-17 में 40 लोगों की मौत मानव रहित क्रॉसिंग में हुई है। पीआरओ ने बताया, 'इन एेक्सीडेंट को रोकने के लिए हम सभी मापदंडों का आंकलन कर रहे हैं। लाउडस्पीकर इंस्टॉल करने से लेकर सिग्नल पोल के साथ गेट में इंटरलॉकिंग इस योजना में शामिल है।'  उन्होंने आगे बताया कि हम लगातार अपने प्रयासों के जरिये रेलवे लगातार सब-वे, फ्लाईओवर्स और सड़कों को जोड़ने के वैकल्पिक प्रावधान उपलब्ध कराती रही है लेकिन कुछ स्थानीय राजनेता अड़चनें पैदा करने का काम करते हैं।