दारोगा, जासूस और सफाई इंस्पेक्टर का काम भी करेंगे रेलवे के कोच कंडक्टर

नई दिल्ली (17 जून): भारतीय रेल का  ट्रेन कंडक्टर अब चलती हुई ट्रेन का कोच कंडक्टर ही नहीं वो अब पुलिस इंस्पेक्टर, सेनेटरी इंस्पेक्टर और फूड इंस्पेक्टर की जिम्मेदारी भी निभाएगा। वो मुसाफिरों की हिफाजत का ध्यान रखेगा, किसी घटना दुर्घटना की एफआईआर भरेगा, कोच की साफ-सफाई पर निगाह रखेगा और यात्रियों को परोसे जाने वाले खाने की गुणवत्ता भी देखेगा।

 इन सबसे बड़ी जिम्मेदारी दी गयी है कि बच्चों की तस्करी करने वालों की धरपकड़ भी कर सकेगा और एक जासूस की तरह संदिग्ध दिखने वालों की इत्तला पुलिस को तुरंत देगा। कोच कंडक्टर की यह जिम्मेदारी भी होगी कि रात 10 बजे से सुबह छह बजे के बीच कोच का गेट बंद रहे। रेलवे की नई गाइडलाइंस में यह भी कहा गया है कि ट्रेन में डयूटी के दौरान कंडक्टर की यह जिम्मेदारी होगी कि वह उन संदिग्ध लोगों पर नजर रखें, जिन पर उसे बच्चों की तस्करी करने का शक हो। अगर ऐसा कोई संदिग्ध उसे दिखे तो उसे तुरंत पुलिस को इसकी जानकारी देनी होगी।