रेलवे को डर, आनेवाले समय में यात्री छोड़े देंगे उसका साथ

नई दिल्ली (25 जुलाई): देश की लाइफ लाइन कही जाने वाली रेलवे को इन दिनों एक अजीब सा डर सता रहा है। रेलवे को लगता है कि आने वाले दिनों ने ट्रेन से ज्यादा लोग हवाई सफर करेंगे। ये खुलासा है रेलवे के एक ब्लू प्रिंट में। रेलवे के इस ब्लू प्रिंट में आशंका जताई जा रहा है कि ट्रेन की लेटलतीफी, फस्ट और सेकेंड क्लास के किराए की वजह से बड़ी तादाद में इस सेगमेंट के लोग हवाई जहाज की ओर रुख कर रहे हैं। 

रेलवे ने इस ब्लू प्रिंट को 2019-2020 की अपनी सुधार योजनाओं के तहत तैयार किया है। इस ब्लू प्रिंट में कहा गया है कि अगर ऐसा चलता रहा है तो रेलवे को अपने इस क्लास के यात्रियों से हाथ धोना पड़ सकता है। जिसका असर उसके आमदनी पर भी पड़ेगा। इस ब्लू प्रिंट में इसबात का भी जिक्र किया गया है कि हाइव किराए में एक के बाद एक लगातार आ रहे ऑफर और कमी की वजह से भी यात्री उस ओर रूख कर रहें हैं और अगर ऐसा ही चलता रहा तो अगले 3 साल में ट्रेन के मुकाबले ज्यादा लोग हवाई सफर करेंगे। 

साथ ही रेलवे का कहना है कि घरेलू उड़ा के तहत 25 फीसदी यात्रियों ने 500 किलोमीटर की दूरी तय की है जबकि पहले यह माना जाता है कि हवाई जहाज से ज्यादातर यात्री 800 से 1000 किलोमीटर की दूरी का सफर करते हैं।

इस ब्लू प्रिंट में साफ कहा गया है कि रेलवे को अपने इन ग्राहकों को बनाए रखने के लिए समय और किराए पर जल्द से जल्द गंभीर ध्यान देना पड़ेगा। ताकि भविष्य में इन ग्राहकों को बनाए रखा जा सके।