भगवान भरोसे रेल यात्रियों की सुरक्षा, 12 घंटे से भी कम समय में हुईं चार रेल दुर्घटनाएं

नई दिल्ली(25 नवंबर): रेल यात्रियों की सुरक्षा भगवान भरोसे है। यह हम नहीं कह रहे हैं ये पिछले 12 घंटे में हुए रेल हादसे बताते हैं। उत्तर प्रदेश और ओडिशा में 12 घंटे से भी कम समय में हुई चार रेल दुर्घटनाओं में सात लोगों की मौत हो गयी और कम से कम 11 लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। तीन दुर्घटनाएं उत्तर प्रदेश में हुईं, जबकि एक दुर्घटना ओडिशा में दर्ज की गई। 

- पटरी से उतरने की दो घटनाओं में से एक में उत्तरप्रदेश के चित्रकूट जिले में तीन लोगों की मौत हो गयी। 

- एक घटना में इंजन डिब्बे से अलग हो गया जबकि दूसरी में ट्रेन मानवरहित क्रॉसिंग पर एक कार से टकरा गयी। 

- दुर्घटना का सिलसिला तब शुरू हुआ, जब उत्तरप्रदेश में अमेठी के पास मानव रहित क्रॉसिंग पर एक स्थानीय ट्रेन बोलेरो गाड़ी से टकरा गयी। इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई और दो लोग घायल हो गए। 

- इसके बाद, उत्तर प्रदेश में मानिकपुर रेलवे स्टेशन के पास वास्को डी गामा-पटना एक्सप्रेस के 13 डिब्बे पटरी से उतर गये। हादसे में छह साल के बच्चे और उसके पिता सहित तीन लोगों की मौत हो गयी, जबकि नौ अन्य घायल हो गये। 

- मानिकपुर में ट्रेन के पटरी से उतरने के दो घंटे के भीतर ही ओडिशा में गोरखनाथ और रघुनाथपुर के बीच पारादीप-कटक मालगाड़ी पटरी से उतर गयी। 

- चौथी घटना में, जम्मू-पटना अर्चना एक्सप्रेस का इंजन उत्तरप्रदेश में सहारनपुर के निकट ट्रेन से अलग हो गया। यह दो बार हुआ।