फ्लाइट में सफर करना राजधानी से सस्ता!

नई दिल्ली(9 सितंबर): रेलवे की सर्ज प्राइसिंग की वजह से राजधानी से देश के अधिकतर मेट्रो के बीच का सफर काफी महंगा पड़ने जा रहा है। अंतिम समय में टिकट बुक कराने वाले लोगों को सर्ज प्राइसिंग से ज्यादा पे करना पड़ेगा।

- कई मामलों में तो फ्लाइट भी राजधानी के सेकंड एसी से सस्ती पड़ती दिखाई दे रही है।

- एयर इंडिया पहले से ही अपनी मेट्रो फ्लाइट्स की नहीं बिकी सीटों को राजधानी सेकंड एसी के टिकट की कीमत पर बेचती आ रही है। अब कंपनी ने डिसाइड किया है कि वह रेलवे के सर्ज प्राइसिंग मॉडल को फॉलो नहीं करेगी।

- एयर इंडिया का कहना है कि ऐसे में अंतिम समय में बुक किए गए सेकंड एसी के टिकट की तुलना में उसकी फ्लाइट सस्ती पड़ेंगी। रेलवे के सर्ज प्राइसिंग मॉडल के मुताबिक राजधानी सेकंड एसी का बेस फेयर हर 10 फीसदी टिकट बिकने के बाद 10 फीसदी बढ़ जाएगा।

- वहीं, एयर इंडिया की फ्लाइट का किराया राजधानी सेकंड एसी के रेग्युलर फेयर के बराबर ही होगा। उदाहरण के लिए एयरलाइन दिल्ली से मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए 2870. 2990 और 4090 रुपये का चार्ज करेगी। एयर इंडिया के अधिकारी कहना है कि सर्ज प्राइसिंग के बाद राजधानी सेकंड एसी का यही किराया 4054, 4090 और 5626 रुपये हो जाएगा।

- एयर इंडिया 11 महत्वपूर्ण मेट्रो रूट्स पर राजधानी के सेकंड एसी के किराये में फ्लाइट उपलब्ध करवाती है। हालांकि ये टिकट उपलब्धता पर डिपेंड करते हैं। लगभग सभी इंडियन एयरलाइंस बाजार में प्रतिस्पर्धा को देखते हुए टिकट पर डिस्काउंट ऑफर कर रही हैं।