कैशलेस को बढ़ावा देने के लिए पश्चिम रेलवे ने लगाई पीओएस मशीनें

भूपेंद्र सिंह, अहमदाबाद (18 दिसंबर): कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए रेलवे भी लगातार कैशलेस की दिशा में कदम बढ़ा रहा है। पश्चिम रेलवे के अहमदाबाद, वडोदरा, राजकोट रेल मंडल के महत्वपूर्ण स्टेशनों पर पीओएस यानि प्वाइन्ट ऑफ सेल मशीनें लगा दी गई हैं। रेलवे टिकट लेने वालों में भी कैशलेस टिकट लेने के प्रति जागरूकता आ रही है। लोग स्वाइप मशीनों के जरिए डेबिट कार्ड और क्रेडिट से रेल टिकट ले रहे हैं।

पीएम देश को कैशलेस बनाना चाहते हैं और पीएम के इस सपने को साकार करने करने के लिए रेलवे ने कदम बढ़ा दिया है। अहमदाबाद मंडल की बात की जाए तो सोमवार को पीओएस के जरिए करीब 1.90 लाख रुपए की टिकटों की बिक्री की गई। जन संपर्क अधिकारी के मुताबिक अहमदाबाद रेल मंडल के अहमदाबाद, गांधीधाम, न्यू भुज, पालनपुर, महेसाणा और भचाऊ स्टेशनों पर 13 स्वाइप मशीनें लगा दी गई हैं।

शुरुआत में ही करीबन डेढ़ से दो लाख रुअपयों का कैशलेस ट्रांसक्शन हो रहा है। जैसे-जैसे यात्रियों में जागरुकता आएगी कैशलेस ट्रांजेक्शन बढ़ेगा पार्सल और जनरल टिकट विंडो पर भी स्वाइप मशीनें लगाई जाएंगी। केंद्र सरकार की कैशलेस ट्रांजेक्शन अभियान को रेलवे ने भी अपनाया है। देशभर के कई रेलवे स्टेशनों पर रेल टिकटों के लिए पीओएस के जरिए कैशलेस ट्रांजेक्शन शुरू किया गया है। पश्चिम रेलवे के अहमदाबाद, वडोदरा और राजकोट रेल मंडल के भी कई अहम स्टेशनों पर पीओएस मशीनें लगा दी गई हैं।