रेलवे का गरीब सवर्णों को तोहफा, 10% आरक्षण के साथ देगी 2 लाख नौकरी

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 जनवरी): मोदी सरकार ने 10 फीसदी सवर्ण आरक्षण को जल्द ही रेलवे भर्ती में लागू करने का निर्णय किया है। रेल मंत्रालय ने एक नोटिफिकिशन जारी करते हुए दो लाख 30 हजार पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली है, जिसमें 10% गरीब सवर्णों को भी आरक्षण दिया जाएगा। रेलवे यह भर्तियां दो साल के अंदर करेगा।

रेलवे के नोटिफिकेशन के अनुसार, पहला चरण फरवरी-मार्च 2019 से शुरू होकर अप्रैल-मई, 2020 तक चलेगा, जिसमें 1,31,428 पदों पर भर्तियां होंगी जबकि दूसरे चरण में 99 हजार पदों पर भर्तियां होंगी। यह चरण मई-जून 2020 से शुरू होकर जुलाई-अगस्‍त, 2021 तक चलेगा. इससे पहले रेलवे ने डेढ़ लाख पदों पर भर्तियां निकाली थीं। रेलवे ये भर्तियां विभिन्‍न काडर में करेगा और इसके लिए न्‍यूनतम योग्‍यता ITI डिप्‍लोमा या इंजीनियरिंग की डिग्री होगी। हरेक पद के आधार पर योग्‍यता भिन्‍न होगी।

सरकार की नीति के मुताबिक पहले चरण में इन भर्तियों में 19715 पद SC, 9857 पद ST और 35,485 पद OBC के लिए आरक्षित हैं। इसके बाद संविधान के 103वें संशोधन के बाद अब आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को भी 10% आरक्षण देने का कानून बन गया है। इसके पालन में रेलवे ने 13,100 पदों को गरीब सवर्णों के लिए आरक्षित कर दिया है। वहीं दूसरे चरण की भर्ती में एससी आवेदकों के लिए 15000 पद, एसटी के लिए 7500, ओबीसी के लिए 27000 पद और EWS के लिए 10000 पद आरक्षित रहेंगे।

आपको बता दें कि इंडियन रेलवे में फिलवक्‍त 15.06 लाख पद हैं। इसमें 12.23 लाख पेरोल पर हैं जबकि 2.82 लाख पद खाली पड़े हैं। अभी डेढ़ लाख से अधिक लोगों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। यह पूरी होने के बाद भी 1.31 लाख पद खाली रह जाएंगे। इसके अलावा करीब 53 हजार कर्मचारी 2019-20 में रिटायर हो जाएंगे। जबकि 2020-21 में 46 हजार रिटायर होंगे। इससे फिर 99 हजार पद खाली हो जाएंगे। इसलिए रेलवे ने दो लाख 30 हजार पदों पर भर्ती के लिए आवेदन निकाला है।