आम लोगों पर एक और हथौड़ाः अब साल में दो बार बढेगा रेल किराया !

नई दिल्ली (28 दिसंबर): नये साल में रेल यात्रियों को ट्रेन में सफर करने के लिए अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है। केंद्र सरकार रेल किराये को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) से लिंक करने पर विचार कर रहा है। ऐसा होने पर साल में रेल मंत्रालय कम से कम दो बार ट्रेन का किराया बढ़ा सकेगा। अग्रिम टिकट बुक कराने वाले यात्रियों को सफर के दौरान बढ़े हुए किराये को देना होगा। इसकी घोषणा फरवरी में पेश होने वाले आम बजट में हो सकती है।

रेल मंत्रलाय ने आर्थिक तंगी के चलते सितंबर माह में राजधानी-शताब्दी टे्रनों में फ्लेक्सी फेयर लागू किया था। इससे ट्रेन की सभी श्रेणियों का किराया अधिकतम 50 फीसदी तक बढ़ गया। एसी-2 का किराया हवाई किराये के बराबर पहुंचने के कारण रेल यात्रियों ने हवाई सफर की ओर रुख किया। जिससे एसी-2 में रेल यात्रियों के रिकार्ड 30 फीसदी तक गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि रेलवे अब फ्लेक्सी फेयर में कमी ला रही है।