अगर रेलवे से हुई ये गलती तो वापस मिलेगा पूरा पैसा

नई दिल्ली (9 अक्टूबर): अगर आप अकसर रेल में सफर करते हैं तो यह खबर जानना आपके लिए बेहद ही उपयोगी है, क्योंकि ई-टिकटों की बिक्री बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड ने नए आदेश जारी किए हैं। अब 3 घंटे से ज्यादा ट्रेन लेट होने पर ई-टिकट लेने वाले पैसेंजर को 100% रिफंड किया जाएगा।

इसके लिए पैसेंजर को आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन टीडीआर (टिकट डिपॉजिट रिसीप्ट) भरना होगा। इसमें 50% रकम टीडीआर भरने के कुछ घंटे के अंदर और बाकी 50% ट्रेन के अराइवल और डिपार्चर की जानकारी मिलते ही अकाउंट में जमा करा दी जाएगी। रेलवे ने ई-टिकट को भी इस फैसिलिटी से जोड़कर पैजेंसर्स को राहत दी है।

4 घंटे पहले टीडीआर फॉर्म भरना जरूरी - आईआरसीटीसी की वेबसाइट के मुताबिक, डिपार्चर से 4 घंटे पहले ऑनलाइन टिकट कैंसिलेशन या टीडीआर फॉर्म भरना जरूरी है। - ट्रेन के चलने से 30 मिनट पहले मिनिमम चार्ज काटकर आरएसी और वेटिंग टिकट का किराया रिफंड किया जाएगा। निर्धारित अवधि से तीन घंटे की देरी से ट्रेन के लेट होने के कन्फर्म, आरएसी वेटिंग टिकट के पैसेंजर्स टिकट को बिना कोई शुल्क काटे पूरा किराया वापस किया जाएगा। - ट्रेनों के रद्द होने की स्थिति में आईआरसीटीसी द्वारा बुक की गई ई-टिकट को रद्द कराने की जरूरत नहीं है और न ही टीडीआर फॉर्म भरने की जरूरत है। ऐसी स्थिति में यात्री के खाते में अमाउंट अपने आप ही ट्रांसफर हो जाएगा।