जानिए, कितने वक्त के बाद धुलते हैं रेलवे के कंबल

नई दिल्ली (26 फरवरी): आपने कभी सोचा है कि ट्रेनों में सफर करने के दौरान भारतीय रेलवे की तरफ से जो कम्बल आपको दिए जाते हैं, उन्हें कितने समय के अन्तराल पर धोया जाता है?  

आपको बता दें, इन्हें दो महीनों के बाद धोया जाता है। रेलवे के लिए राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने राज्यसभा में शुक्रवार को प्रश्नकाल के दौरान इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जबकि, बेड-शीट्स, बेडरोल और पिलो कबर्स को हर दिन धोया जाता है। जबकि, कम्बलों को दो महीने के बाद धोया जाता है।

अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रश्नकाल के दौरान सदस्यों की तरफ से ट्रेनों में रेलवे की तरफ से दी जाने वाली लॉन्ड्री और लिनेन सर्विस में स्वच्छता को लेकर सवाल किया गया था। जिसके जवाब में उन्होंने ये जानकारी दी।

मंत्री ने बताया कि जबकि, 41 मैकेनाइज्ड लाउंड्रीज़ अभी काम कर रही हैं। लेकिन अगले 2 सालों में इनकी संख्या 25 और बढ़ाने की योजना है। जिससे 85 फीसदी यात्रियों को ये सुविधा दी जा सके, जो रेलवे की लिनेन और बेडशीट्स का इस्तेमाल करते हैं।