राजधानी, दुरंतो और शताब्दी का बढा़ किराया अभी एक प्रयोग: रेलवे

नई दिल्ली (8 सितंबर): रेलवे ने बुधवार को राजधानी, दुरंतो और शताब्दी का किराया फ्लेक्सी प्रणाली के आधार पर बढ़ाया था, लेकिन मीडिया में खबर दिखाए जाने के बाद सरकार इसपर थोड़ी चिंतित दिखाई दे रही है। रेलवे ने सफाई देते हुए कहा है कि फ्लेक्सी प्रणाली के आधार पर किराया बढ़ाना एक प्रयोग है।

रेलवे के अचानक से इस तरह किराया बढ़ाने को लेकर विपक्षी पार्टियों ने भी सरकार की आलोचना की थी। आपको बता दें कि रेलवे ने बुधवार को ऐलान किया था कि यह नया सिस्टम 9 सितंबर से लागू हो जाएगा। राजधानी और दुरंतो ट्रेनों के लिए 10 फीसदी का अनुपात रखा गया है। इस आदेश के मुताबिक इन ट्रेनों की सभी श्रेणी के पैसेंजर्स को पहली 10 फीसदी सीटों के लिए तो बेस फेयर यानी अभी जितना किराया है, उतना ही देना होगा। लेकिन, 10 फीसदी सीटें बढ़ते ही अगली 10 फीसदी सीटों पर किराए में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हो जाएगी।

इस फैसले का बचाव करते हुए रेलवे के चैयरमैन एके मित्तल ने कहा कि अभी यह सिर्फ एक प्रयोग के रूप में किया गया है। बाद में इसकी समीक्षा की जाएगी और जो सही कदम हैं वह उठाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस फैसले से कुल 81 ट्रेनों पर असर पड़ेगा।