ना रिजॉर्ट पर छापा मारा गया और ना ही वहां ठहरे विधायकों पर: जेटली


नई दिल्ली (2 अगस्त): कर्नाटक के उर्जा मंत्री डीके शिवकुमार पर इनकम टैक्स की रेड को लेकर संसद में हंगामा मचा हुआ है। इस बारे में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सफाई देते हुए कहा कि रिजॉर्ट पर कोई छापा नहीं पड़ा बल्कि मंत्री से पूछताछ के लिए इनकम टैक्स विभाग की टीम वहां पर गई।

वित्त मंत्री जेटली ने लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही जगह सरकार का बचाव किया। लोकसभा में उन्होंने कहा कि छापे शुरू होने के बाद आरोपी मंत्री रिजॉर्ट में जाकर 'छिप' गए थे। अधिकारी उनके बयान लेने के लिए रिजॉर्ट गए थे। रिजॉर्ट पर न ही कोई छापा पड़ा और न ही किसी कांग्रेसी विधायक की वहां तलाशी ली गई।

जेटली के मुताबिक, जब अधिकारी रिजॉर्ट पहुंचे तो कई दस्तावेज फाड़े जा रहे थे। इन्हें अफसरों ने कब्जे में ले लिया है। वित्त मंत्री ने आखिर में कहा कि इस कार्रवाई को गुजरात के किसी चुनाव या राजनीति से जोड़कर नहीं बल्कि आर्थिक अपराध के खिलाफ हुई कार्रवाई के तौर पर देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुल 39 जगहों पर छापे मारे गए हैं। इसके अलावा, अगर कोई शख्स कांग्रेसी विधायकों की मेजबानी में लगा है तो उसे अपने घर में अवैध पैसे रखने का लाइसेंस नहीं मिल जाता।