कॉल सेंटर के जरिए की 2.5 अरब की ठगी, 70 गिरफ्तार

मुंबई (5 अक्टूबर): ठाणे पुलिस कमिश्नर ने ऑन फेक इंटरनेशनल कॉल सेंटर रैकेट का भंड़ाफोड़ किया है। कमिश्नर परमबीर सिंह ने बताया कि क्राइम ब्रांच को जानकारी मिली की थी कि काशिमिरा और मीरा रोड पर जो कॉल सेंटर चलाया जाता है, वह फर्जी है। इसमें विदेशी नागरिकों को ठगने का काम किया जाता है।

पुलिस कमीश्नर ने बताया कि हमने इस छापेमारी में 70 लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि 72 लोगों को छोड़ा गया। वहीं 630 लोगों को नोटिस दिया गया है। काल सेंटर से VOIP का इस्तेमाल किया जाता था और फिर अमेरिकन नेशनल को काल की जाती थी। रोजाना इनकी इनकम डेढ़ से दो करोड़ रूपये थी। अभी तक इन लोगों ने साढ़े छः हजार अमेरिकन लोगों को ठगा गया है और साढ़े छत्तीस मिलियन डॉलर का फ्रॉड किया है।

- साल का टार्न ओवर 700 ,800 करोड़ का है। - अमेरिकन ऑथोरिटी को इसकी जानकारी है, यह अमेरिका में बड़े स्तर पर किया जाता है। - अमेरिकन एक्सेंट में बोलने वाले बच्चो को ट्रेनिंग दी जाती और उन्हें इस काम का इस्तेमाल किया जाता था। - इंटरनल रेवेन्यू सर्वसेस ऑफिसर का नाम लेकर काल किया जाता था। - यह अमेरिकन लोगों को टारगेट करते थे। - यह अकाउंट्स में पैसे डाट्रेक्ट जाता था। - इसमें 9 मुख्य मास्टर माइंड है। - अमेरिकन लोगो को डराया धमकाया जाता था। - कर्मचारियों को 10 हजार से लाखों रूपये दिए जाते थे। - 20 से 30 महिलाएं है, 70 लोग जिसमे अरेस्ट हुए है। - 800 हार्ड डिस्क जब्त किए गए है। - हाई एन सर्वर, DVR, लैपटॉप, मोबाइल फोन, एक करोड़ का सामान कुल जब्त किया गया है।