मनमोहन सरकार में भी 3 बार हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक- राहुल गांधी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (1 दिसंबर): कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एकबार फिर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला किया है। राहुल गांधी ने उदयपुर में  केंद्र की मोदी सरकार को सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर भी घेरा। राहुल गांधी ने कहा कि पीएम ने सेना की सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया। जबकि सर्जिकल स्ट्राइक पूरी तरह सेना का फैसला था। बीजेपी यूपी में चुनाव हार रही थी और उस वक्त पीएम मोदी ने सेना की सर्जिकल स्ट्राइक का इस्तेमाल राजनीतिक हथियार के रूप में किया। साथ ही उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह के शासन में तीन बार  सर्जिकल स्ट्राइक हुई लेकर UPA सरकार ने उसका प्रचार नहीं किया। राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कारोबारियों से मुलाकात कि मनमोहन सिंह सरकार ने 3 बार सर्जिकल स्ट्राइक की लेकिन कांग्रेस की सरकार ने कभी सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय नहीं लिया. मोदी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक का राजनीतिकरण किया। पीएम मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक और सेना को हथियार बनाया।साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के बारे में हिन्दुस्तान की जनता भ्रमित है। युवाओं के लिए रोजगार सृजन के मामले में पीएम मोदी पूरी तरह से विफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी से पहले पूरी कैबिनेट को कमरे में बंद कर दिया था, दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ा दीं और लाखों लोगों को बर्बाद कर दिया। राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार के समय NPA 2 लाख करोड़ रुपए था, मोदी सरकार के 4 साल में एनपीए 12 लाख करोड़ रुपए हो गया। मोदी सरकार ने अनिल अंबानी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या जैसे लोगों का लाखों करोड़ों रुपये का कर्जा माफ कर दिया।इतना ही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी खुद को हिंदू कहते हैं लेकिन खुद हिंदुत्व का मतलब तक नहीं जानते।  राहुल गांधी ने कहा, 'हिंदू धर्म का सार क्या है? गीता क्या कहती है? हर किसी को इसका ज्ञान है और चारों तरफ फैला है। प्रत्येक जीवित व्यक्ति इसे जानता है. वहीं, हमारे प्रधान मंत्री कहते हैं कि वह एक हिंदू है लेकिन वह हिंदू धर्म की नींव को नहीं समझ पाते. वह किस प्रकार के हिंदू हैं?'