अपनी सोच को दूसरों पर थोप रहा है केंद्र: राहुल गांधी

नई दिल्ली (23 फरवरी): कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार छात्रों की आवाज को दबाने की कोशिशें कर रही है। लगातार आरएसएस की सोच थोपने की कोशिशें की जा रही हैं।  कांग्रेस पार्टी केंद्र को अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं होने देगी।

राहुल ने कहा, 'आज मैं पार्लियामेंट में बैठा था भाषण सुन रहा था। आज सरकार ने अपनी उपलब्धियों के बारे में बोला, लेकिन रोहित के बारे में कुछ नहीं बोला। हरियाणा के बारे में कुछ नहीं बोला। पूरा भाषण बीते हुए समय पर था। मैंने सोचा कि यही आरएसएस की सोच है, वो बीते हुए समय की बात करते है वो आज या कल की बात नहीं करते। रोहित आज की बात कर रहा था और भारत के भविष्य के बारे में बोलता था। आरएसएस को यही पसंद नहीं था।'

उन्‍होंने कहा कि रोहित भारत के भविष्य के बारे में बात कर रहा था। वह देश के बारे में चिंतित था। लेकिन आरएसएस ऐसा नहीं चाहता था। छात्रों की आवाज दबाई जा रही है। भविष्य की बात कहने पर कुचलने की बात कही जा रही है। जब मैं हैदराबाद गया था तब मैंने सुझाव दिया था कि यूनिवर्सिटी में भेदभाव को खत्म करने के लिए कानून बने।

इस मार्च में कांग्रेस का छात्र संगठन एनएसयूआई और आम आदमी पार्टी का छात्र संगठन भी शामिल है। छात्रों के इस मार्च को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी साथ दे रहे हैं। राहुल करीब 2.20 बजे यहां पहुंचे और रोहित के परिजनों से मुलाकात की। उनके साथ दिग्विजय सिंह भी थे।