प्रधानमंत्री अभी भी सो रहे हैं, हम उनको भी जगाएंगे: राहुल गाँधी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 दिसंबर): मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीत से राहुल गाँधी काफी उत्साहित हैं। राज्यों में सरकार बनते ही किसानों के कर्ज माफ कर चुनावी वादे को पूरा करने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोदी सरकार से लगातार सवाल कर रहे हैं। अब राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने असम और गुजरात के मुख्यमंत्रियों को गहरी नींद से जगा दिया है, लेकिन प्रधानमंत्री अब भी सो रहे हैं, हम उनको भी जगाएंगे। दरअसल, असम और गुजरात में बीजेपी की सरकार है और दोनों राज्यों में किसानों को राहत दी गई है।

गुजरात में बिजली बिल और असम में कर्ज माफगुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने किसानों के 650 करोड़ रुपये के बिजली बिल माफ कर दिेए हैं।  जबकि असम में भी किसानों के लिए कर्जमाफी की घोषणा की गई है।  हालांकि यहां पर किसानों को अधिकतम 25 हजार रुपये तक ही कर्जमाफी मिलेगी। बीजेपी शासित दोनों राज्यों के इन फैसलों को कांग्रेस मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में किए गए कर्जमाफी का असर बता रही है।  मंगलवार को राहुल गांधी ने कहा था कि हमने जो वादा किया था वो पूरा कर दिया।  उन्होंने कहा था कि कांग्रेस व अन्य विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किसानों के कर्ज माफ करने के लिए दबाव बनाएंगे और तब तक उन्हें सोने नहीं देंगे। अब राहुल गांधी ने गुजरात और असम की बीजेपी शासित सरकारों के फैसले को आधार बनाते हुए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा है कि वह अब भी सो रहे हैं, हम उन्हें भी जगाएंगे।"प्रधानमंत्री को सोने नहीं देंगे"कल राहुल गांधी ने कहा था, 'पिछले साढ़े चार वर्षो में मोदी जी ने आपका पैसा लिया और साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये इन 15-20 उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया। उन्होंने दो भारत बनाए- पहला 15-20 लोगों का, ऋण माफी का, निजी विमानों का और दूसरा छोटे व्यापारियों, दुकानों, मजदूरों और किसानों का।' संसद के बाहर संवाददाताओं से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि, हमने मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 10 दिनों के भीतर कर्ज माफ करने का वादा किया था। दो राज्यों में छह घंटे के भीतर हमने कर्ज माफ किया और तीसरे राज्य में भी होने वाला है। साधी पीएम मोदी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा था कि जब तक सभी किसानों का कर्ज माफ नहीं होता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोने नहीं देंगे।

राहुल गांधी ने कहा था कि उनकी पार्टी ने वादा किया था कि 10 दिनों में कर्जमाफी का काम शुरू हो जाएगा।  दो राज्यों में छह घंटे भी नहीं लगे और तीसरे राज्य में ऐसा होने जा रहा है। बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने हाल ही में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाई है और दो राज्यों में मुख्यमंत्रियों ने शपथ लेने के चंद घंटों में ही कर्जमाफी की फाइल पास कर दीं। राजस्थान की गहलोत सरकार अभी फैसला नहीं ले पाई है।