राहुल को पीएम प्रत्याशी बताने से नया सियासी बवंडर

सौरभ कुमार, पटना (28 अगस्त): महागठबंधन की ओर से राजद के प्रदेश कार्यालय में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस हुई, जिसमें केंद्र पर जमकर हमले किए गए। एकजुटता के बावजूद पीसी से राज्य में नया राजनीतिक बवंडर भी शुरू हो गया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अशोक चौधरी ने यह कहा कि राहुल गांधी अगली बार पीएम पद के उम्मीदवार होंगे, लेकिन जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने बाद में कहा कि अभी इसपर फैसला ही नहीं हुआ है। राजद सुप्रीमो लालू ने भी कहा की अशोक चौधरी ने अपनी पार्टी कांग्रेस के बारे में बोला है।

- डॉ. चौधरी जब राहुल की शान में कसीदे पढ़ रहे थे, राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे भी अनमने दिखे। - राजद और जदयू का संकेत यही लग रहा है कि कांग्रेस की ओर से आए इस बयान का प्रतिवाद जोरदार होगा। - जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने बाद में अपने बयान से संकेत भी दे दिए। - जानकारों के मुताबिक नीतीश कुमार मिशन-2019 को लेकर गंभीर हैं। - शराबबंदी सहित विभिन्न मुद्दों पर राष्ट्रव्यापी अभियान चलाकर खुद को राष्ट्रीय राजनीति में मोदी के समानांतर खड़ा करने की उनकी कोशिशों को इस बयान से झटका स्वाभाविक है। - डॉ. अशोक चौधरी ने राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार बताते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में पार्टी 2019 में मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने की तैयारी में है। - चौधरी के इस बयान के बाद भूचाल जैसी नौबत है। राजद ने भी साफतौर से इस बयान का विरोध करते हुए कहा की यह बयान कांग्रेस के लिए है ना की महागठबंधन के लिए।