नोटबंदी पर विपक्ष लामबंद, राहुल गांधी बोले- सरकार के फैसले का पहले से ही कुछ लोगों को पता था

नई दिल्ली (15 नवंबर): नोटबंदी पर पूरा विपक्ष लामबंद नजर आ रहा है। 500 और 1000 के नोट पर पाबंदी के खिलाफ विपक्ष ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी कड़ी में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। राहुल गांधी के मुताबिक नोटबंदी से आम जनता का बुरा हाल है। राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने इस मसले पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी बात की। उन्होंने भी नोटबंदी के मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है।

राहुल गांधी की बड़ी बातें...

- इस फैसले के गंभीर परिणाम निकलने वाले हैं - 1000 के नोट को बंद करने के पीछे क्या तर्क है - क्या कुछ लोगों को फैसले का पता पहले से था - नोट बंदी के मुद्दे पर पूरा विपक्ष एक है - कल से शुरू हो रहे सत्र में उठेगा मुद्दा   500-1000 की नोटबंदी के बाद से पिछले सात दिनों से पैसे निकालने के लिए एटीएम के बाहर लगी लंबी कतारों के बीच संसद का शीतकालीन सत्र कल से शुरू हो रहा है। नोटबंदी मामले को लेकर संसद में हंगामे की संभावना जताई जा रही है। विपक्ष एकजुट होकर सरकार को घेरने की रणनीति बनाने में जुटा है। 

मंगलवार को कांग्रेस नेताओं ने सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक से पहले अपनी बैठक की। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में संपन्न बैठक के दौरान शीर्ष नेताओं की राय थी कि विमुद्रीकरण के मुद्दे पर संसद के दोनों सदनों में सवाल उठाया जाएगा।

शीतकालीन सत्र के दौरान जीएसटी से जुड़े तीन विधेयकों और किराये की कोख यानी सरोगोसी के नियमन संबंधी विधेयक समेत नौ नए विधेयक पेश किए जाएंगे। वहीं नोटबंदी के मुद्दे पर संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार को घेरने की संयुक्त रणनीति को अंतिम रूप देने के लिए कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और माकपा सहित अन्य विपक्षी पार्टियों ने सोमवार को बैठक की। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार का फैसला पूर्व निर्धारित घोटाला है, जिसे पहले ही सत्तारूढ़ बीजेपी को लीक कर दिया गया था।

इन मुद्दों पर केंद्र को घेरेगा विपक्ष...

- नोटबंदी

-सर्जिकल स्ट्राइक

- कश्मीर मुद्दा/पाकिस्तान

- वन रैंक वन पेंशन

- किसान