मृत किसानों के परिवारों को राहुल से नहीं मिलने का ओदश

नई दिल्ली (6 जून): कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मध्यप्रदेश के मंदसौर में पहुंचने से पहले प्रशासन सतर्क हो गया है। वह आज पिछले साल किसान आंदोलन में मारे गए परिवार वालों से मिलने के लिए वहां गए थे, लेकिन प्रशासन ने उनको मिलने के रोकने के प्रयास तेज कर दिए हैं।गोली कांड में मारे गए अभिषेक के माता-पिता ने आरोप लगाया है कि प्रशासन उन्हें धमकी दे रहा है कि राहुल गांधी से नहीं मिले। अभिषेक की मौत के बाद सरकार ने उसके भाई संदीप पाटीदार को नागपुर में चतुर्थ वर्ग के नौकरी दी है। उसे फोन पर एडीएम आरके वर्मा ने धमकी दी है कि तुम सरकारी नौकरी में हो और अगर तुम्हारे माता-पिता राहुल गांधी से मिलने गए तो तुम्हारी नौकरी भी जा सकती है।एडीएम आरके वर्मा ने फोन पर सफाई दी कि वो तो बस जानकारी ले रहे थे कि परिवार से कौन-कौन राहुल गांधी से मिलने जा रहा है। उन्हें रोकने की कोशिश नहीं हुई। आपको बता दें कि पिछले साल किसान आंदोलन के दौरान 5 लोगों की फायरिंग में मौत हो गई थी। इसमें 17 साल के अभिषेक के अलावा सत्यनारायण, घनश्याम, बबलू उर्फ पूनमचंद और कन्हैया लाल थे।मृत किसानों को राहुल से नहीं मिलने देने का प्रयास