"जिनके कुर्ते फटेंगे, वह नेता बनेंगे"

लखनऊ (29 जुलाई): यूपी के लखनऊ में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस के 60 हजार कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रहे हैं। लखनऊ के रमाबाई मैदान में आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के अलावा यूपी के दिग्गज नेता भी मौजूद हैं।

इस मौके पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जिस प्रकार महिलाओं को आरक्षण दिलाया, उसी तरह महिला कार्यकर्ताओं को चुनाव लड़ाएंगे और आगे बढ़ाएंगे।

राहुल के भाषण के मुख्‍य अशं:

1- पहला सवाल मनरेगा को लेकर: थोड़ा पहले आता तो मैं भी भीग जाता लोगो के साथ। कांग्रेस सबको जोड़कर चलती है। नरेगा से गरीबो का आदर किया था। उनके लिए ये प्रोग्राम चालू किया था। सूट बूट की सरकार कहा तो मोदी को बुरा लगा।

2- बहुबलिओ के खिलाफ महिलाओं को टिकट देने पर: कांग्रेस में बड़ी संख्या में महिला है। पंचायतों में आरक्षण दिया। महिलाओं को आगे बढाएंगे चुनाव लड़ाएंगे।

3- मिर्जापुर से सतीश मिश्रा का सवाल, उम्मीदवार कब घोषित होंगे: उम्मीदवार चुनने के कई तरीके हैं। कोई पैसे लेकर चुनता है। वर्कर बेहद ज़रूरी है। जो लड़ता है। पहले नंबर पर कार्यकर्ता होगा, दूसरी पार्टी से लोग लेंगे। जल्द मैदान में उतरेंगे। युवाओं को जगह दी जाएगी। विधानसभा लड़ाएंगे।

4- बुलंदशहर से सुभाष शर्मा का सवाल, मोदी ने झूठे सपने दिखाए जनांदोलन हो: अच्छा सुझाव है, मैंने एक सवाल पूछा था कल किसान और दाल का। अरहर मोदी का नया नारा है। उद्योगपतियो के लिए काम कर रहे हैं। पहले ज़मीन, अब दाल छीन रहे। किसान, महंगाई के खिलाफ आंदोलन होगा। दाल के दाम काम होने की तारीख दीजिए।

5- अनिल सिंह (फतेहपुर), कोंग्रेस स्थिति सुधारने के लिए लड़ रही क्या: जनता की ज़िन्दगी को बदलने के लिए लड़ रही। पूर्ण बहुमत के लिए लड़ रही। सब पार्टी यूपी को तोड़ने का काम कर रही, यू पी को नंबर 1 बनाएंगे।

6- भारत शुक्ल (चित्रकूट), पार्टी गुटबाजी हार का कारण है: गुटबाजी को अनुशासन से बंद कर सकते है। यूपी को एक टीम दी, अगर कोई खिलाफ काम करेगा तो सख्त कार्यवाही होगी।

7- सत्य प्रकाश (बुलेंदशहर), पार्टी नेता जिला स्तर पर नहीं जाते: पार्टी चुनाव का प्लान बनाकर लड़ेगी। सब नेताओं को ज़मीन पर उतरना पड़ेगा। जो ज़मीं पर जनता के बीच जाएंगे, जिनके कुर्ते फटेंगे, उन्हीं को आगे बढ़ाया जाएगा।

8- दयाशंकर सिंह (चंदौली), शीला जी उम्र की वजह से मुख्यमंत्री की उम्मीदवार है या नहीं: शीला जी ने दिल्ली को बदला, विकास लाई। दिल्ली के लोग कांग्रेस को याद कर रहे हैं। गलती कर दी पहले काम होता था, अब ड्रामा होता है। विधायक जेल जाते है। अनुभव शीला जी के पास है। इनका दिल और सोच कांग्रेसी।

9- परवेज खान (संत कबीर नगर), मुकाबला किस दल से होगा: अगर सब साथ हुए तो कोई मुकाबला नहीं कर पाएगा।

10- कौशल (शाहजहापुर), जनता में कांग्रेस का कौतूहल वोट कैसे मिले: अगर पार्टी ने अपनी सोच जनता को ठीक से बताई तो सरकार बनाएगी। कांग्रेस आरएसएस या बसपा जैसे काम नहीं करती। मोदी ने कहा कि बुलेट ट्रेन लाएंगे। पूरा बजट एक ट्रेन में डालना चाहते है। किराया महंगा होगा, उसमे मोदी और उनके सूटबूट दोस्त जाएंगे। सफाई नहीं हुई। नया जुमला मेक इन इंडिया लाए। कांग्रेस जो कहती है वो करती है।

11- आनंद राय (गाजीपुर), दलित उत्पीड़न बढ़ा: देश में जो कमजोर है, उसे दबाया जा रहा। गुजरात, यूपी और हरियाणा में दलितों को दबाया जा रहा है।

12- अखिलेश कुमार (बांदा), कांग्रेस का गठबंधन से नुकसान: गठबंधन जनता से वर्कर से, बाकि सब पार्टी जाति को जाति से लड़ती हैं।

13- भानु सहाय (झांसी), खाद्य सुरक्षा अधिनियम: यूपी ने कितनी बिजली बनवाई, किसान का क्या हुआ। किसान का कर्ज कांग्रेस ने माफ़ किया। सरकार बनी तो जनता को फायदा होगा।

14- विकास यादव (भदोही), पहले आप कांग्रेसी वर्करों से मिलते थे अब मिल नहीं पाते: हर हफ्ते जनता दर्शन करूंगा।

15- गौरव चौधरी (लखनऊ), रूठो को कैसे मनाएंगे: हर जगह एक ही लड़ सकता है। बाकि जगहों पर काम देंगे।

16- उर्मिला, बुंदेलखंड में आत्महत्या क्यों: किसान रीढ़ की हड्डी हैं। हमने मदद की, बड़े उद्योगपतियो का पैसा माफ़ होता है।

17- वकार (सहारनपुर), क्या सद्भाव ठीक करने का प्रोग्राम चलेगा: भाजपा सपा लड़वाती हैं।

18- अनिल (इलाहबाद), कांगेस में नेताओं की कमी नहीं: कांग्रेस देश में खड़ी है, हिंदुस्तान से नहीं मिटाई जा सकती। जो नेता कांग्रेस और नेताओं की बुराई करते है, उनकी मत सुनो। मैं एक्शन लूंगा।

19- वीरेंदर (जौनपुर), कैसे कानून व्यवस्था ठीक होगी: यूपी सरकार में पुलिस स्टेशन में न्याय नहीं। राजनीतिक ऑफिस बना पुलिस स्टेशन, कमजोरों को दबाया।

20- पूजा सिंह, कांग्रेस वर्कर के पास संशाधन कम: पार्टी जब मजबूत, जब नीचे मजबूत। मदद करेंगे, संगठन को मजबूत करेंगे। जितना पैसा मोदी के पास है, उतना कांग्रेस के पास नहीं। पता नहीं मोदी के पास इतना पैसा कहा से आता है।

21- उमेश (देवरिया), पार्टी का फ्रंटल संगठन ठीक नहीं: मजबूत वर्कर को चुनाव लड़ाएंगे, हर जाति-धर्म को जगह।

22- खालिद अंसारी (मऊ), बुनकरों की हालत ठीक नहीं: बुनकरों की मदद की कोशिश की। यूपी में पैकेज का फायदा नहीं मिला।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=rQV8s4MvntE[/embed]