मंदसौर: बोले राहुल गांधी, मारे गए किसानों को मिले शहीद का दर्जा

नई दिल्ली ( 8 जून ): मध्य प्रदेश के मंदसौर में पुलिस की फायरिंग में 5 किसानों की मौत के बाद किसानों के आंदोंलन ने उग्र रूप धराण कर लिया है।  पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए मंदसौर जाते समय नीमच में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया।

हालांकि पहले उन्होंने जमानत लेने से इनकार कर दिया था, लेकिन जब प्रशासन ने उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने की इजाजत दे दी तो उन्होंने जमानत लेना स्वीकार कर लिया। इसके बाद राहुल ने एमपी-राजस्थान के बॉर्डर पर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की।

पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद राहुल ने कहा, 'इनकी मांग है कि मारे गए किसानों को शहीद का दर्जा मिलना चाहिए, कांग्रेस यह बात उठाएगी और पूरी मदद करेगी।' मोदी सरकार पर हमला करते हुए राहुल ने फिर कहा कि कर्ज माफ होता है तो हिंदुस्तान के सबसे अमीर 50 लोगों का होता है, किसान का नहीं होता।

इसके पहले गिरफ्तारी के बाद नीमच के गेस्ट हाउस ले जाए गए राहुल गांधी ने 5 किसानों की मौत के लिए प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज को जिम्मेदार बताते हुए उन्होंने कहा, 'मोदीजी किसानों का कर्ज नहीं माफ कर सकते, सही रेट और बोनस नहीं दे सकते, मुआवजा नहीं दे सकते- सिर्फ किसान को गोली दे सकते हैं। मोदी ने सिर्फ अमीरों का टैक्स माफ किया है।' राहुल ने ट्वीट कर बताया है कि उन्होंने पीड़ित परिवारों से फोन पर बात कर उन्हें सांत्वना दी है।