शास्त्री को पसंद नहीं द्रविड़-जहीर, इनकी जगह चाहते हैं ये कोच...

नई दिल्ली (14 जुलाई): विराट कोहली की पहली पसंद रवि शास्त्री को सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने कोच के तौर पर चुना। उसके बाद लगा कि इस कोच कथा का पटाक्षेप हो गया, लेकिन कल एक बार फिर कोच कथा में नया अध्याय उस समय जुड़ गया जब ये खबरें आई कि हेड कोच रवि शास्त्री टीम में राहुल द्रविड़ और जहीर खान को फुल टाइम कोचिंग का हिस्सा नहीं बनाना चाहते बल्कि वो अपने पुरानी टीम भरत अरुण को जहीर की जगह बॉलिंग कोच और एस श्रीधर को फील्डिंग कोच के तौर पर रखना चाहते हैं। राहुल द्रविड़ और जहीर की मदद वो तभी लेंगे जब टीम को जरुरत होगी जबकि दिग्गजों की राय इससे उलट है।


रवि शास्त्री की तरफ से दलील दी गई कि स्पोट स्टाफ के बार में उन्हें नहीं बताया गया। क्रिकेट सलाहकार समिति के हेड बिनोद राय ने भी शास्त्री के सुर में सुर मिलाए, जिसके बाद सामने आया सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण का वो पत्र जिसमें उन्होंने सीएसी को लिखा कि हर बात पहले ही साफ कर दी गई थी। रवि शास्त्री ने भी राहुल द्रविड़ और जहीर खान के नाम पर हामी भरी थी, जिस पर लोगों ने खुशी भी जताई।


इसके बाद बीसीसीआई ने अपना रुख साफ करते हुए ये कहा कि जहीर खान की भूमिका भी टीम में राहुल द्रविड़ की ही तरह होगी यानि कि विदेशी दौरे पर जब लगेगा कि टीम को उनकी सेवा की जरुरत है तो उनकी मदद ली जाएगी। उम्मीद है कि कप्तान-कोच के साथ हर खिलाड़ी के जहन में अब हर तस्वीर साफ होगी। रवि शास्त्री 2019 वर्ल्ड कप तक हेड कोच होंगे। रवि शास्त्री की पुरानी टीम भरत अरुण और एस श्रीधर उनके साथ होंगे। जरुरत पड़ने पर जहीर और द्रविड़ टीम में दस्तक देंगे वो भी विदेशी दौरे पर।