मशहूर शायर राहत इंदौरी ने ठुकराया पाकिस्तान का न्यौता

नई दिल्ली (1 मार्च): भारत की पीठ में लगातार खंजर भोंके जाने से नाराज जाने-माने शायर राहत इंदौरी ने पाकिस्तान का न्यौता ठुकरा दिया। यह न्यौता पाकिस्तान दिवस की पूर्व संध्या पर कराची में 22 मार्च को आयोजित अंतरराष्ट्रीय मुशायरे का था। राहत इंदौरी का उनका मानना है कि दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच जारी तनाव घटाने के लिए अब पाकिस्तान को पहल करते हुए ईमानदार कदम उठाने चाहिए।

 

राहत इंदौरी ने कहा- मैंने कराची के मुशायरे में शामिल होने के लिए अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम में बदलाव की कोई कोशिश नहीं की, क्योंकि मैं एक हिंदुस्तानी हूं और मुझे (भारत-पाकिस्तान के बीच की) सारी घटनाएं दिखाई देती हैं।

उन्होंने बताया कि मैं वर्ष 1986 से अब तक पाकिस्तान में आयोजित मुशायरों में शामिल हो चुका हूं। यह पूछे जाने पर कि भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में जमी बर्फ पिघलाने के लिए अब पाकिस्तान को ईमानदार पहल करने की जरूरत है, उन्होंने फौरन जवाब दिया- बिल्कुल। अगर दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच अमन और खुशियां कायम करनी हैं, तो पाकिस्तान को इस दिशा में कोशिश करनी चाहिए।