पूर्व RBI गर्वनर रघुराम राजन ने चेताया, सिस्टम की खामी का फायदा उठाने की जुगत में डिफॉल्टर कंपनियों के प्रमोटर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 सितंबर): रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया यानी कि आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का कहना है कि डिफॉल्ट कर चुकी कंपनियों के कुछ प्रमोटर्स अब भी सिस्टम की खामियों का फायदा उठाने की जुगत में जुटे हुए हैं।

इतना ही नहीं राजन ने इसके साथ ही यह भी कहा कि न्यायालय को को डिफॉल्टरों की खोखली दलीलों वाली अपीलों को बढ़ावा देने से बचना चाहिए। गौतलब है कि राजन ने संसदीय समिति के नाम पत्र में लिखा है, 'बड़े कॉरपोरेट्स विवादास्पद और कभी-कभार फर्जी अपील के जरिए बैंकरप्सी कोड के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उच्चतर न्यायालयों को ऐसे मामलों में नियमित रूप से दखल देने के लोभ से बचना चाहिए।

मामले से जुड़े बिंदुओं की व्याख्या हो जाने के बाद उनमें अपील पर अंकुश लगाया जाना चाहिए।' रिटायर आरबीआई गवर्नर का यह बयान तब आया है, जब कई पावर प्रड्यूसर्स बैंकिंग रेग्युलेटर की तरफ से 12 फरवरी को जारी सर्कुलर पर रोक लगवाने की कोशिश कर रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस सर्कुलर पर एक तरह से स्टे लगा दिया है। आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने यह बात भी उठाई है कि कैसे कुछ प्रमोटर्स भारी भरकम लोन के चलते डिफॉल्ट हो चुके अपनी असेट्स को बैकडोर से खरीदने के रास्ते तलाशने में जुटे हैं।