रघुराम राजन बन सकते हैं अमेरिकी ‘रिजर्व बैंक’ के चेयरमैन!

नई दिल्ली (31 अक्टूबर): रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का नाम अमेरिका के सेंट्रल फेडरल रिजर्व के चेयरमैन के पद के लिए उठा है। एक वैश्विक फाइनेशिलय मैगजीन बैरन ने उनके नाम की वकालत की है। जिस तरह से भारत में रिजर्व बैंक काम करता है वही काम अमेरिका में फेडरल रिजर्व का भी है।

बैरन मैगजीन ने कहा है कि रघुराम राजन अमेरिकी सेंट्रल बैंक के चेयरमैन के पद के लिए एक आदर्श चुनाव होंगे। फेडरल रिजर्व की मौजूदा चेयरपर्सन जनेट यलेन का कार्यकाल 2018 की शुरुआत में खत्म होने जा रहा है, उनका कार्यकाल खत्म होने से पहले वहां पर नए चेयरमैन का चुनाव करना जरूरी है। अमेरिका में नए चेयरमैन की तलाश हो रही है और ऐसी संभावना जताई जा रही है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जल्दी ही नए चेयरमैन की घोषणा कर सकते हैं।

रघुराम राजन के पक्ष में बैरन मैगजीन ने तर्क दिया है कि जब दुनियाभर में देशों की खेल टीमें अपने खेल को सुधारने के लिए दुनिया की सर्वोच्च प्रतिभा का चुनाव करती हैं तो फिर अमेरिकी सेंट्रल बैंक ऐसा क्यों नहीं कर सकता। रघुराम राजन पिछले साल तक भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर थे और इस पद को छोड़ने के बाद वह अमेरिका चले गए हैं। भारतीय रिजर्व बैंक का गवर्नर बनने से पहले राजन इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड में मुख्य अर्थशास्त्री के पद पर रह चुके हैं। उन्होंने 40 साल की उम्र में इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड के मुख्य अर्थशास्त्री का पद संभाला था और ऐसा करने वाले वह सबसे कम उम्र के व्यक्ति बने थे। 2013 में उन्होंने भारतीय रिजर्व बैंक का गवर्नर बनाया गया था।