RBI में आज राजन का आखिरी दिन, उर्जित पटेल संभालेंगे कामकाज

नई दिल्ली(4 सितंबर): उर्जित पटेल आज संभालेंगे रिजर्व बैंक के गवर्नर का पद। विदाई से पहले रघुराम राजन ने कहा  कि आरबीआई के पास बनी रहनी चाहिए...सरकार को ना कहने की क्षमता।

-राजन ने कहा, "आरबीआई गवर्नर में वो ताकत होनी चाहिए कि सबसे ताकतवर सरकार को भी ना कह सके। ये एक मजबूत केंद्रीय बैंक के लिए बेहद जरूरी है।" रिटायरमेंट के बाद एजुकेशन में लौट रहे हैं राजन...

- शनिवार को राजन दिल्ली में सेंट स्टीफेंस कॉलेज के स्टूडेंट्स के बीच थे। वैसे, स्टूडेंट्स के साथ उनका पुराना नाता रहा है। वे पहले शिकागो यूनिवर्सिटी में पढ़ाते थे और अब रिटायरमेंट के बाद फिर एजुकेशन के क्षेत्र में लौट रहे हैं।

- बहरहाल, स्टीफन कॉलेज में छात्रों के बीच वे दोहरे रोल में थे। गवर्नर के रोल में भी और एक टीचर के रोल में भी। इसीलिए सुझाव, समझाइश के साथ-साथ नसीहत भी दी। कहा-"अपने तीन साल के कार्यकाल में मुझसे जितना अच्छा हो सकता था, मैंने किया।"

- "बिना किसी डर और पक्षपात के। मैं चाहता हूं कि आने वाला गवर्नर भी ऐसा ही हो। आरबीआई के गवर्नर में वो ताकत होनी चाहिए कि सबसे शक्तिशाली सरकार को भी ना कह सके। ये इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि देश को मजबूत और स्वतंत्र केंद्रीय बैंक की बेहद जरूरत है।"

- हालांकि, राजन ने ये भी माना कि केंद्रीय बैंक को सरकार के बनाए कायदे-कानून के मुताबिक काम करना होता है, इसलिए बंदिशों से आजाद भी नहीं रह सकता।

स्टूडेंट्स के साथ बातचीत में राजन ने कहा, "यह मेरी आखिरी पब्लिक स्पीच है। इसके बाद का वक्त भी मैं भारत को दूंगा। मैं चाहता हूं कि मेरे उत्तराधिकारी अपने तरीके से आरबीआई की कम्युनिकेशन्स को नई ऊंचाइयों पर ले जाएं।"

- "यह मेरे लिए सम्मान की बात है कि मैंने देश के लिए काम किया। और आप जैसे लोगों से मुझे बात करने का मौका मिला। जो देश का फ्यूचर हैं। मुझे सुनने के लिए आप सभी को धन्यवाद।"