J&K: सेना की गोली से क्रिकेटर समेत 4 युवकों की मौत

नई दिल्ली(13 अप्रैल): जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से करीब 85 किलोमीटर दूर हंदवारा शहर में प्रदर्शन कर रही पथराव करने वाली भीड़ को तितर-बितर करने लिए सेना द्वारा की गई गोलीबारी में चार युवकों की मौत हो गई जिसमें एक उदीयमान क्रिकेटर शामिल था। भीड़ सेना के कुछ जवानों द्वारा एक छात्रा से कथित छेड़छाड़ के बाद प्रदर्शन कर रही थी।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि युवकों की हत्या में शामिल जवानों को कठोर सजा दी जाएगी। इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकतीं जिनका राज्य सरकार के शांति लाने के प्रयासों पर नकारात्मक असर पड़ता है। सेना ने जांच का आदेश दे दिया है वहीं जम्मू कश्मीर पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज कर लिया है और घटना की जांच शुरू कर दी है। दोनों युवकों की मौत के बाद शहर में और प्रदर्शन शुरू हो गए और कश्मीर के श्रीनगर और पुलवामा जिलों में भी ऐसा ही हाल देखने को मिला।

पुलिस प्रवक्ता ने घटना की शुरुआत के बारे में ब्योरा देते हुए कहा कि सेना के एक जवान द्वारा कथित छेड़छाड़ की घटना के कुछ ही मिनट के भीतर बड़ी संख्या में वहां लोग एकत्रित हो गए और उन्होंने हंदवारा चौक पर सेना के बंकर पर हमला कर दिया। प्रवक्ता के अनुसार उन्होंने वहां तैनात जवानों पर हमला बोला, बंकर में तोड़फोड़ की और बंकर में आग लगाने का प्रयास किया। प्रवक्ता ने कहा कि बदले में तैनात सुरक्षा बलों ने हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। इस दौरान मोहम्मद इकबाल और नईम कादिर भट गोली लगने से घायल हो गए। उन्होंने बताया कि उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया जहां दुर्भाग्य से उनकी मृत्यु हो गई। प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस को उनकी मौत पर दुख है।

सरकारी डिग्री कॉलेज, हंदवारा का छात्र नईम भट भी पुलिस की गोलीबारी में मारा गया। नईम के दोस्तों का दावा है कि वह तीन साल पहले अंडर-19 के राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट शिविर में भाग ले चुका था। नईम की मौत के बाद सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें डाली जा रहीं हैं जिनमें एक तस्वीर में उसे जम्मू कश्मीर के हरफनमौला खिलाड़ी परवेज रसूल के साथ नेट अभ्यास करते हुए देखा जा सकता है। अधिकारी के अनुसार हंदवारा की घटना का असर श्रीनगर में भी दिखाई दिया। पुलवामा में भी प्रदर्शन भड़क गए।

शहर के संवेदनशील इलाकों में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है। एक सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक दिल्ली गयीं मुख्यमंत्री ने उधमपुर में नार्दन आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा से इस मुद्दे पर फोन पर बात की। मुख्यमंत्री को बताया गया कि सेना ने जांच का आदेश दे दिया है। जांच पूरी होने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। महबूबा ने कहा कि हंदवारा में दो युवकों की हत्या में शामिल सुरक्षा कर्मियों को कड़ी सजा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों को अत्यंत संयम बरतना चाहिए और सार्वजनिक विरोध प्रदर्शन के समय मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करना चाहिए।

सैन्य अधिकारी ने उन्हें बताया कि वह बंकर को हटाने की स्थानीय लोगों की मांग पर विचार करेंगे। घटना पर नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस और सीपीएम ने कार्रवाई की मांग की और कहा कि दोषियों पर बिना देरी के मामला दर्ज किया जाना चाहिए। हुर्रियत के कट्टरपंथी धड़े के नेता सैयद अली शाह गिलानी ने दोनों युवकों की मौत के विरोध में आज कश्मीर बंद का आह्वान किया है। नरमपंथी हुर्रियत के नेता मीरवाइज उमर फारक ने भी गोलीबारी की घटना की निंदा की है।