कैबिनेट ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को दी मंजूरी, ट्रैफिक रूल तोड़ना अब बहुत महंगा पड़ेगा

नई दिल्ली ( 1 अप्रैल ): केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मोटर वाहन संशोधन विधेयक 2016 में हुऐ संशोधनों को शनिवार मंजूरी दे दिया है। अब इस विधेयक को 9 अगस्त 2016 को लोकसभा में पेश किया गया था। बाद में इसे परिवहन संबंधी विभागीय स्थायी समिति के पास भेज दिया गया।


सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी है कि मंत्रिमंडल ने समिति द्वारा सुझाए गए लगभग सभी सुझावों को स्वीकार कर लिया है। गडकरी के मुताबिक इस विधेयक को अगले सप्ताह संसद में पेश किया जाएगा। मोटर वाहन अधिनियम 1989 करीब 30 साल पुराना कानून है जो कि बदलते समय की जरूरतों को पूरा नहीं करता है। विधेयक के जरिये इस कानून में कई अहम् बदलावों का प्रस्ताव किया गया है।


-शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 2 हजार की जगह 10 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा।


-हेलमेट न लगाने पर 25 सौ रुपये तथा लाल बत्ती तोड़ने पर 1000 रुपये जुर्माना देना होगा।


- सीट बेल्ट न लगाने पर 1000 रुपये और वाहन चलाते हुए मोबाइल पर बात करने पर 5,000 रुपये जुर्माना होगा. लाइसेंस भी रद्द हो सकता है।


-नाबालिग की गाड़ी से दुर्घटना में मौत होने पर, उसके परिजनों पर 25 हजार रुपये तक जुर्माना और 3 साल तक की कैद होगी।


-सड़क दुर्घटना में मौत होने पर परिजनों को 4 महीने के भीतर मुआवजे के रूप में 5 लाख रुपये मिलेंगे।


-सरकारी कर्मचारियों के नियम तोड़ने पर 2 गुना जुर्माना भरना होगा।