दिखना बंद होने के बाद भी पायलट ने विमान को सुरक्षित उतारा

नई दिल्ली (1 फरवरी) :  ब्रिटेन की वायुसेना रॉयल एयरफोर्स (आरएएफ) का एक पायलट ट्रेनिंग जेट उड़ा रहा था कि अचानक आंख में संक्रमण से उसे दिखाई देना बंद हो गया। लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी। साथ ही उड़ रहे दूसरे विमान में बैठे सहयोगी की मदद से उसने विमान सुरक्षित उतार लिया।

जब पायलट ने एयर कमांडर्स को दिखना बंद होने की सूचना दी तो पहले सोचा गया कि वो नॉर्थ सी पर इजेक्ट बटन दबा कर जेट से बाहर आ जाए। लेकिन ऐसा करने में पायलट को चोटें आने का ख़तरा था। वहीं जेट के भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने की संभावना थी।

'द टेलीग्राफ'  की रिपोर्ट के मुताबिक एयर कमांडर्स ने आरएएफ के इंस्ट्रक्टर फ्लाइट लेफ्टिनेंट पॉल डरबन को संकटग्रस्त पायलट की मदद के लिए भेजने का फ़ैसला किया। पॉल आरएएफ लीमिंग में तैनात थे जहां से इराक और अफगानिस्तान के लिए उड़ान भरी जाती हैं।

एक सूत्र ने अख़बार को बताया कि ये तय होने के बाद कि पायलट की आंख में संक्रमण है और उसे कुछ नहीं दिखाई दे रहा तो पॉल डरबन ने एक और विमान से नीचे उड़ान भरी। साथ ही उसे पायलट से बातें करते हुए जेट को सुरक्षित ज़मीन पर उतरवाया।  

रिपोर्ट के मुताबिक पायलट और जेट दोनों पूरी तरह सुरक्षित हैं। ये घटना गुरुवार को हुई थी लेकिन आरएएफ ने इसकी रविवार को पुष्टि की।