अश्विन ने किया श्रीलंका के जले पर नमक छिड़कने का काम

अंकन कर, नई दिल्ली (18 जुलाई): पहले सिर्फ इनकी घूमती हुई गेंदें कहर बरपाती थी, लेकिन अब तो घुमती हुई गेंदों के साथ इनकी तीखी जुबान भी विरोधियों को पस्त करती है। एक समय अश्विन सिर्फ अपने गेंदबाज़ी पर ही ध्यान देते थे। लेकिन समय के साथ ही अश्विन में बदलाव आने लगा और अब विकेट लेने के बाद वो अपने इशारों और मुंह से जवाब भी देते हैं।

इस साल के शुरूआत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु टेस्ट में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला था। जब मिचेल स्टॉर्क को आउट कर अश्विन ने कुछ इस तरह से विदाई दी थी। सिर्फ यहीं नहीं बेंगलुरु टेस्ट में अश्विन ने तो बीच मैदान में ही मैट रैनशॉ से कुछ इस तरह से लड़ाई भी कर ली थी।

अश्विन को अब कप्तान का भी साथ मिलता है और यहीं वजह है कि वो भी अब एग्रेसिव क्रिकेट खेलने लगे हैं। खैर इस बार तो अश्विन दौरे पर रवाना होने से पहले ही अपने तीखे बोल से श्रीलंकाई टीम से मज़े ले रहे हैं। वनडे सीरीज़ में जिम्बॉब्वे के हाथों 3-2 से हारने के बाद से ही श्रीलंका में हड़कंप मचा हुआ है। कभी बोर्ड ग्राउंड स्टॉफ के कपड़े उतरवा लेता है तो वहीं हार के बाद मैथ्यूज़ ने भी तीनों फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ दी है।

ऐसे में अश्विन के इस बयान का श्रीलंकाई क्रिकेट क्या मतलब निकालेगी ये तो समय ही बताएगा, लेकिन अश्विन के रिकॉर्ड्स पर नजर डाले तो अकेले ही लंका दहन कर सकते हैं। श्रीलंका के खिलाफ अश्विन ने 3 टेस्ट की 6 पारियों में 3.30 की इकॉनोमी से 21 विकेट झटके थे।