खुशखबरी: कतर में भारतीय कर्मचारियों की लगी लॉटरी

दोहा (23 अगस्त): कतर ने अपने श्रम कानून में बहुत बड़ा बदलाव किया है। कतर ने घरों में काम करने वाले कर्मचारियों की काम करने की अधिकतम सीमा 10 घंटे तय कर दी है। साथ ही सप्ताह में एक दिन की छुट्टी और साल में तीन हफ्ते की छुट्टी को भी अनिवार्य कर दिया गया है। कतर सरकार के इस फैसले से यहां काम कर रहे हजारों घरेलू नौकरियां, नैनियों और रसोइयों को भारी राहत मिलने की उम्मीद है। 

साथ ही सरकार ने साफ किया है सभी कर्मचारियों को हर महीने के अंत में उनके उनकी सैलरी देना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही नौकरी का कॉन्ट्रेक्ट खत्म होने पर हर हाल तीन हफ्तों के हिसाब से पैसा देना भी जरूरी होगा। ये कानून यहां विदेशों से काम करने आए श्रमिकों पर लागू होगा। नए कानून द्वारा कवर किए गए अन्य घरेलू कामगारों में क्लीनर, माली और ड्राइवर शामिल हैं।

आपको बता दें कि कतर में भारी तादाद में भारतीय नौकरी करते हैं और कतर सरकार के इस नए कानून से इन्हें भारी राहत मिलने की उम्मीद है।