कोई कुछ नहीं पुछेगा, बेरोकटोक कतर जाइये 60 दिनों के लिए


दोहा (10 जुलाई): सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र से विवाद के बीच कतर ने बड़ा फैसला किया है। कतर ने भारत समेत 80 देशों के नागरिकों को अपने यहा बिना वीजा दाखिले को मंजूरी दे दी है। कतर ने छह अरब देशों की ओर से लगाए गए प्रतिबंधों के बाद अपने देश में पर्यटन और हवाई यातायात को बढ़ावा देने के मकसद से यह कदम उठाया है। 

कतर ने भारत समेत 80 देशों को अपने यहां बिना वीजा के एंट्री देने का फैसला किया है। इसमें भारत के अलावा ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे देश शामिल हैं। आपको बता दें कि अरब देशों के प्रतिबंध का कतर सामना कर रहा है। 

पाकिस्तान को इसमें जगह नहीं दी गई है। कतर पर्यटन प्राधिकरण (क्यूटीए) के कार्यवाहक अध्यक्ष हसन अल इब्राहिम ने बुधवार को बताया कि वीजा मुक्त यात्रा आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। उन्होंने कहा, '80 देशों के नागरिकों को बिना वीजा देश में प्रवेश की अनुमति देने के साथ ही कतर क्षेत्र का सबसे ज्यादा खुला देश हो गया है। पर्यटक कतर की मेजबानी, सांस्कृतिक विरासत और प्राकृतिक नजारे का लुत्फ उठा सकेंगे।'

इस सूची में शामिल देशों के नागरिकों को कतर आने के लिए कोई वीजा आवेदन या शुल्क नहीं देना पड़ेगा। उन्हें प्रवेश स्थल पर ही विशेष छूट प्रदान की जाएगी। बस इसके लिए संबंधित व्यक्ति के पास पासपोर्ट (कम से कम छह महीने की वैधता) और वापसी का टिकट होना अनिवार्य है।

वीजा से छूट पाने वाले देशों की दो सूची तैयार की गई है। पहली सूची में 33 देश शामिल हैं, जिनके नागरिकों को दी गई छूट 180 दिनों के लिए वैध रहेगी और वे 90 दिनों तक कतर में रह सकेंगे। दूसरी सूची में 47 देश (भारत, अमेरिका, ब्रिटेन समेत) हैं। इन देशों के नागरिकों को दी गई छूट 30 दिनों के लिए वैध होगी और वे इतने ही दिन कतर में रह सकेंगे। बाद में इसे 30 दिन के लिए और बढ़ाया जा सकता है।