अपने रुख पर डटा क़तर, अरब देशों के सभी आरोप किये खारिज

नई दिल्ली (8 जुलाई): आतंकवाद के आरोपों के बीच दुनियाभर के देशों की आलोचना और कई तरह के प्रतिबंधों को झेल रहे कतर ने एकबार फिर कड़ा रुख अपनाते हुए चार अरब देशों के उस बयान को खारिज कर दिया जिसमें कहा गया है कि कतर आतंकवाद के बढ़ावा दे रहा है। चार अरब देश सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन ने गुरुवार को एक संयुक्त बयान में कहा कि दोहा को राजनयिक गतिरोध समाप्त करने के लिए उनकी मांगों को नामंजूर करना ही कतर के आतंकवादी समूहों से संबंध होने का प्रमाण है। इनका आरोप है कि कतर इस्लामिक स्टेट और अल-कायदा जैसे आतंकी समूहों का समर्थन करता है। कतर पर ईरान का समर्थन करने का भी आरोप है।