बैन को 'अंगूठा' दिखाने के लिए 4,000 गायों को एयरलिफ्ट कराएगा कतर

अंकारा (13 जून): सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र, बहरीन समेत कई देशों ओर से प्रतिबंध लगाए जाने के बाद कतर में खाद्य संकट पैदा हो गया है। दूध और अन्य खाद्य उत्पादों के लिए विदेशों पर निर्भर रहने वाले कतर ने ताजा संकट से निपटने के लिए नायाब तरीका खोज निकाला है। ब्लूमबर्ग की खबरों के अनुसार, संकट की इस घड़ी में कतर के एक बड़े व्यवसायी मोताज अल खयात ने ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका से चार हजार गायों को कतर एयरवेज के विमानों से दोहा लाने का फैसला किया है। इन गायों को दोहा लाने के लिए कतर एयरवेज के विमानों को करीब 60 बार उड़ान भरनी होंगी।


मोताज का कहना है कि इस कदम से सऊदी अरब से दूध की आपूर्ति बंद होने का संकट खत्म हो जाएगा और कतर एयरवेज जिसकी उड़ानें सऊदी अरब ,संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन द्वारा प्रतिबंधित कर दी गई हैं ,उसके नुकसान की भरपाई भी हो जाएगी। मोताज के मुताबिक इन गायों को दोहा से 50 किलोमीटर दूर उनके डेयरी फार्म में रखने और उनकी देखरेख करने का सभी काम पूरा हो चुका है। जून के अंत तक देश में ताजे दूध का भरपूर उत्पादन शुरु हो जाएगा और जुलाई के मध्य तक दूध की घरेलू मांग करीब-करीब पूरी कर ली जाएगी।


कूटनीतिक संबंध समाप्त किए जाने से उपजे संकट से निपटने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तहत ईरान कतर को फल एवं सब्जियों का तथा तुर्की डेयरी उत्पाद भेज रहा है।