पंजाब में दलित युवक की हत्या, हाथ-पांव काटे

 

चंडीगढ़ (12 अक्टूबर ) : आगामी विधानसभा चुनावों से पहले दलितों पर अत्याचार को लेकर राजनीतिक पारा गर्म है। विपक्षी दल दलितों पर हो रहे अत्याचार के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार बता रहे हैं। लेकिन दलितों पर अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है.पंजाब के मानसा में शराब तस्करी विवाद में 20 साल के एक दलित नौजवान युवक की बेरहमी से हत्या कर दी गई।                                                                                                

युवक के घरवालों का कहना है कि आरोपी युवक को अगवा कर ले गए और उसके दोनों पांव और एक हाथ काट दिए। घटना मानसा जिले के घरांगना गांव की है। आरोप है कि शराब की तस्करी को लेकर दो गुटों में झगड़ा चल रहा था। यह भी आरोप है कि आरोपी अपने साथ युवक का कटा हुआ पैर भी साथ ले गए।                                                                                                                                                                                                         

अब परिवार का कहना है कि जब तक आरोपी पकड़े नहीं जाते वो अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। पुलिस ने छह आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है लेकिन अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। मृतक के पिता ने अपने बेटे के कटे हुए अंग को प्राप्त करने की गुहार लगाई है।