कैप्टन अमरिंदर सिंह को पंजाब में आतंक का डर, करतारपुर कॉरिडोर को बताया PAK आर्मी और ISI की साजिश


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 दिसंबर): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक प्रेस नोट जारी करके करतारपुर कॉरिडोर खोलने के पाकिस्तान के ऐलान को पाकिस्तान आर्मी और ISI की साजिश करार दिया। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब में फिर से खालिस्तान मूवमेंट और आतंकवाद को बड़ा करने के लिए पाकिस्तान इस कॉरिडोर का गलत इस्तेमाल करने की कोशिश कर सकता है। साथ ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान जाने से रोका था लेकिन उसके बावजूद सिद्धू इमरान खान के साथ अपने निजी रिश्तों की वजह से वहां गए।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि, 'करतारपुर गलियारा स्पष्ट रूप से आईएसआई का एक गेम प्लान है, उन्होंने कहा कि यह पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ रची गई एक बड़ी साजिश नजर आती है।' उन्होंने दावा कि पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने इमरान खान के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने से पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू के समक्ष करतारपुर गलियारा खोले जाने की खबरों का खुलासा कर दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान पंजाब में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने का प्रयास कर रहा है और इसलिए हम सभी को उसकी पहल से सावधान रहना चाहिए।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के मुद्दे पर अकाली दल और बीजेपी ने बेवजह नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर मुद्दा बना रही है। उन्होंने ने कहा कि अकाली दल और बीजेपी द्वारा सिद्धू का मुद्दा उछाले जाने की वजह से करतारपुर कॉरिडोर के पीछे पाकिस्तान की साजिश की बात दब गई। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वो नवजोत सिंह सिद्दू के "कौन है कैप्टन" बयान पर बिल्कुल भी नाराज नहीं है क्योंकि नवजोत सिंह सिद्धू कई बार कह चुके हैं कि वो उन्हें अपने पिता समान मानते हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह पाकिस्तान इसलिए नहीं गए क्योंकि पाकिस्तान आर्मी सीमा पर हमारे देश के जवानों को मरवाने और पंजाब में आतंकवाद भड़काने में लगी है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की इस हरकत का शिकार पंजाब के युवा हो रहे हैं। साथ अमरिंदर सिंह ने कहा कि इमरान खान भले ही अमन, शांति और दोस्ती बढ़ाने की कोशिश में लगे हों लेकिन पाकिस्तान की आर्मी, जिसका वहां की सरकार पर पूरा कंट्रोल है, ऐसा होने नहीं देगी।