एवरेस्ट पर चढ़ाई का फर्जी दावा करने वाला पुलिस कपल नौकरी से बर्खास्त

नई दिल्ली(8 अगस्त): एवरेस्ट पर चढ़ाई का फर्जी दावा करने वाले कॉन्स्टेबल दंपत्ति को आखिरकार नौकरी से निकाला गया है। फर्जी फोटोज पेश कर मई 2016 में दोनों ने एवरेस्ट की चोटी फतह करने का दावा किया था। इन्हें पुणे पुलिस ने सम्मानित भी किया था। जिसके बाद इनके खिलाफ जांच का आदेश दिया गया था जिसमें दोनों का दावा फर्जी निकला तो नवंबर 2016 में उन्हें सस्पेंड किया गया था। 

- पुणे के शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन में कार्यरत दिनेश और तारकेश्वरी राठौड़ ने 23 मई 2016 को एवरेस्ट पर चढ़ाई करने का दावा किया था। 

- अपने दावे को पुख्ता करने के लिए दोनों ने नेपाल में 5 जून 2016 को एक प्रेस कान्फ्रेंस भी की थी। इस दौरान उन्होंने एवरेस्ट अभियान से जुड़ी कई फोटोज और सर्टिफिकेट भी पेश किए थे। 

- इन फोटोज को फर्जी बताते हुए पुणे के एक माउंटेनियरिंग क्लब से जुड़े 8 सदस्यों ने इनके खिलाफ पुलिस कमिश्नर रश्मि शुक्ला से इनकी शिकायत की थी।

- रश्मि शुक्ला ने इस मामले में दोनों के खिलाफ इंटरनल इन्क्वारी का आदेश दिया था। इसकी रिपोर्ट आने के बाद नवंबर 2016 में दोनों को सस्पेंड कर दिया गया था। 

-इसके बाद अब सोमवार (7 जुलाई 2017) को दोनों को नौकरी से निकाला गया है।