खत्म हुआ भारत-चीन की सेनाओं का संयुक्त युद्ध अभ्यास ‘हैंड इन हैंड 2016’

पुणे (25 नवंबर): भारत और चीन का 10 दिनों से चल रहा साझा सैन्य 'हैंड इन हैंड 2016'शुक्रवार को खत्म हो गया। इस युद्ध अभ्यास का उद्घाटन 16 नवंबर को हुआ था। यह भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के बीच छठा सलाना संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास है।

इस अभ्यास का उद्देश्य, उग्रवाद और आतंकवाद से निपटने के दौरान दो सेनाओं के सैन्य कौशल और विशेषज्ञता को साझा करना है।  इस अभ्यास के शुरुआत में दोनों सेनाओं के जवानों ने अपनी जांबाजी के करतब दिखाए, जिसे देखकर हर कोई हैरान था।

ज्वाइंट एक्सरसाइज की मुख्य बातें...

- यह हर साल की तरह भारत और चीन के बीच संयुक्त अभ्यास की सीरीज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा। - यह भारतीय सेना द्वारा चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के साथ छठा संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास था।  - यह हर साल भारत और चीन में बारी-बारी से आयोजित किया जाता है। - पहला युद्ध अभ्यास चीन के कुनमिंग में 2007 में हुआ था।  - 2015 में भी यहीं दोनों देश की सेनाओं ने संयुक्त अभ्यास किया था। - इसमें दोनों सेनाएं आतंकवाद और युद्ध के दौरान ड्रिल एंड प्रेक्टिसेज को लेकर अपने अनुभव शेयर किए। - इस एक्सरसाइज से दोनों देशों की सेनाओं को एक दूसरे के बेसिक मिलिट्री स्किल्स सीखने का मौका मिला। - यह पूरी मिलिट्री एक्सरसाइज को जॉइंट डायरेक्टिंग पैनल से जुड़े अधिकारियों की देखरेख में थी। - इसके पहले फेज में दोनों देश के सेनाएं एक दूसरे के वैपन्स और इक्विपमेंट से फैमिलियर थे।।