Blog single photo

PAK को पता चली औकात, नेपाल से कहा- भारत से शांति के लिए करो बातचीत

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के एक्शन से पाकिस्तान में घबराहट है। भले ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और वहां की सेना के अधिकारी मीडिया के सामने आकर बड़े-बड़े दावे करते हो, लेकिन सच्चाई यह है कि वह पूरी तरह से डरा

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 फरवरी): पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के एक्शन से पाकिस्तान में घबराहट है। भले ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और वहां की सेना के अधिकारी मीडिया के सामने आकर बड़े-बड़े दावे करते हो, लेकिन सच्चाई यह है कि वह पूरी तरह से डरा हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान ने नेपाल से मदद की गुहार लगाते हुए शांति की अपील के लिए भारत से बात करने को कहा है।टीवी चैनलों में आकर खुद को न्यूक्लियर पावर बताने वाले पाकिस्तान हो मालूम है कि अगर वह भारत से युद्ध करता है तो भिखारी बन जाएगा। भारत ने दुनिया के सभी देशों को साथ लेकर उसके खिलाफ चौतरफा वार करने की तैयारी कर ली है। ऐसे में उसका पता चला गया है कि अब उसकी अकड़ ज्यादा समय तक नहीं चल पाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इसी को देखते हुए पाकिस्तान ने नेपाल के विदेश मंत्री से बात की है, जिसमें उसे भारत से बात कर शांति की अपील करने को कहा है। अभी तक उसके नेता और सेना के अधिकारी भारत को हर तरह से जवाब देने की बात कर रहे थे, लेकिन अब उसको भी पता चल गया कि भारत से भिड़ना आसान नहीं होगा।भारत ने कूटनीतिक से लेकर रणनीतिक मोर्चे पर कई कदम उठाए हैं ताकि पाकिस्तान को दुनिया भर में बेनकाब किया जा सके। भारत की कूटनीतिक कोशिशों के कारण दुनिया के कई देशों ने आतंकवाद पर खुलकर समर्थन किया है। अमेरिका भी भारत के समर्थन में है और खुद राष्ट्रपति ट्रंप ने की पुलवामा हमले की निंदा की है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने भी जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेकर पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की है। भारत के दबाव के बाद FATF ने पाक को 'ग्रे' लिस्ट में बरकरार रखा है।इसके अलावा सरकार ने भारत ने पाकिस्तान जाने वाली 3 नदियों रावी, व्यास और सतलुज का अपने हिस्से का पानी रोकने का फैसला लिया है। भारत-पाकिस्तान सीमा पर ट्रकों की आवाजाही रोकी गई है। भारत से पाकिस्तान भेजे जाने वाले टमाटर का निर्यात भी रोक दिया गया है। वहीं पाकिस्तान से आने वाले सामान पर भारत ने 200% सीमा शुल्क लगाया है और उससे मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है।

NEXT STORY
Top