Blog single photo

परमाणु बम की धमकी देने वाला पाक UN के सामने गिड़गिड़ाया

पुलवामा हमले के बाद से केंद्र सरकार हर तरह से पाक को घेरने की कोशिश में लगी हुई है। पाकिस्तान को भी डर है कि भारत कुछ बड़ा करने की फिराक में है। उसका यह डर उस समय सामने आया, जब उसके विदेश

Photo: google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 फरवरी): पुलवामा हमले के बाद से केंद्र सरकार हर तरह से पाक को घेरने की कोशिश में लगी हुई है। पाकिस्तान को भी डर है कि भारत कुछ बड़ा करने की फिराक में है। उसका यह डर उस समय सामने आया, जब उसके विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को एक पत्र लिखा। इस पत्र में कुरैशी ने भारत पर क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगाया गया है।संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को लिखे पत्र में कुरैशी ने कहा कि भारत से हमारी क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरा है। उसने इस मामले में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से हस्तकक्षेप की भी मांग की। यह कदम उसने तब उठाया जब एक दिन पहले ही संयुक्त राष्ट्र की शक्तिशाली संस्था ने पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) का नाम लेकर जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी संगठन द्वारा किए गए 'जघन्य' हमले की कड़ी निंदा की थी। कुरैशी ने यह भी कहा कि भारत बिना किसी सबूत के पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तान पर आरोप लगा रहा है।हालांकि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और FATF से डांट खाने के बाद पाकिस्तान ने दुनिया को दिखाने के लिए पुलवामा आतंकी हमले के जिम्मेदार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के बहावलपुर शहर में चल रहे मदरसे को कब्जे में लिया। आपको बता दें कि इसी मदरसे को जैश का हेडक्वार्टर भी माना जा रहा है। इस बात का खुलासा 2016 में पठानकोट एयरबेस और उरी में सेना के कैंप पर हुए हमले के बाद 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' ने किया था।वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक यहां के लोगों और आतंकी संगठन से जुड़े दहशतगर्दों का भी कहना है कि आज तक यहां कोई छापेमारी या कार्रवाई सरकार की ओर से नहीं हुई। यहां तक कि पठानकोट पर हमले में संलिप्तता के बाद भी जैश की आतंकी गतिविधियां बेरोकटोक जारी हैं। पाकिस्तान में जैश कितना बैखौफ होकर आतंकी गतिविधियां संचालित कर रहा है, इसका पता उससे जुड़ एक मौलवी की बात से चलता है। मौलवी ने पत्रकार से कहा, 'हम यह नहीं छिपाते कि हम कौन हैं। हम एक जिहादी ग्रुप हैं।'

Tags :

NEXT STORY
Top