पाक मीडिया को डर, मोदी सरकार कर देगी ये काम तो वहां मच जाएगी मारकाट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 फरवरी): पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार पाकिस्तान को सबक सिखाने का मन बना चुकी है। इसके लिए सरकार हर एक उस मुद्दे पर विचार कर रही है, जिससे बिना गोली चलाए भी पाकिस्तान को आर्थिक तौर पर बड़ा नुकसान पहुंचाया जा सके। ऐसे में जानकारों की माने तो सरकार अगर सिंधु जल समझौते को खत्म कर देती है तो पापी पाकिस्तान के अंदर खुद की मारकाट मच जाएगी। इसको लेकर वहां की मीडिया भी डर जता चुकी है।

पाकिस्तान की मीडिया को इस बात का अभी से इतना डर सकता रहा है कि वह खुद की अपने शो में इसका जिक्र करने में लगे है कि अगर भारत ने उनका पानी रोक दिया तो वह अंतरराष्‍ट्रीय स्तर पर इस मुद्दे को उठाएंगे। आपको बता दें कि पाकिस्तान के अंदर थोड़ी बहुत बरकत अगर बची है तो वो सिर्फ सिंधु जल समझौते की वजह से ही है। अगर भारत ने ये समझौता तोड़ दिया तो पाकिस्तान खून के आंसू रोने लगेगा, क्योंकि...
- अगर समझौता टूट जाएगा तो पाकिस्तान की 65 फीसदी ज़मीन बंजर हो जाएगी
- पाकिस्तान की 70 फीसदी आबादी पानी के लिए त्राहिमाम-त्राहिमान करने लगेगी
- सिंधु के पानी के बगैर पाकिस्तान का बड़ा हिस्सा रेगिस्तान बन जाएगा



यही वजह है कि जैसे ही भारत सिंधु जल समझौता तोड़ने का इशारा करता है तो पाकिस्तान की सरकार के साथ-साथ वहां का मीडिया भी चीखने लगता है। सर्दी का मौसम खत्म हो रहा है और जल्द गर्मी का मौसम शुरु होने वाला है। ये वो समय होता है जब पाकिस्तान के गांवों और शहरों में पानी की भारी किल्लत होती है। अगर ठीक इसी वक्त मोदी सरकार पाकिस्तान का नल बंद कर दे तो पूरे पाकिस्तान में पानी के लिए मारकाट मच सकती है।


पाकिस्तान की मीडिया को इस बात की आहट मिल चुकी है कि भारत सिंधु जल समझौता तोड़ सकता है और इसीलिए उसे अब अपना हरा-भरा देश रेगिस्तान बनते दिख रहा है। पिछले दिनों पाकिस्तान ने झेलम नदी पर बन रहे किशनगंगा पॉवर प्रोजक्ट को लेकर विश्व बैंक में काफी अड़ंगा लगाया, लेकिन पाकिस्तान की सारी चाल नाकाम रही और भारत को हरी झंडी मिल गई। पाकिस्तान को डर भी सताता है कि भारत के बांध उसके लिए तबाही का सबब बन सकते हैं। पुलवामा में पाकिस्तान ने भारतीय जवानों का खून बहाया है, लेकिन उसे अब डर लग रहा है कि भारत ने यदि वाटर बम का इस्तेमाल कर लिया तो या तो वो प्यास से मर जाएगा या फिर सैलाब में बह जाएगा।