जैश ए मोहम्मद ने ली पुलवामा CRPF कैंप पर हमले की जिम्मेदारी, कहा- नूर की मौत का बदला

पुलवामा (31 दिसंबर): जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF कैंप पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली है। जैश ए मोहम्मद का कहना है कि उसने आतंकी नूर की मौत का बदला लिया है। आतंकी संगठन का कहना है कि यह फिदायिन हमला उनके आतंकी कमांडर नूर त्राली की मौत का बदला लेने  के लिए किया गया है।

आतंकियों ने  ट्रेनिंग सेंटर पर आधी रात के बाद हमला किया। सूत्रों के मुताबिक हमले में सीआरपीएफ के 2 जवान शहीद हो गए हैं। जबकि 3 जख्मी हुए हैं। पुलवामा के पोम्पोर के लेथपुरा इलाके में ये हमला हुआ है। सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर पर हमले में 2 से 3 आतंकियों के शामिल होने की खबर है। सुरक्षाकर्मियों और आतंकियों के बीच यहां फिलहाल मुठभेड़ चल रही है। कैंप के भीतर  लगातार फायरिंग हो रही है। लेथपुरा का ये सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर नेशनल हाइवे 44 के किनारे है। इस इलाके में बेहद कड़ी सुरक्षा रहती है। बावजूद इसके आतंकी कमांडो ट्रेनिंग सेंटर तक पहुंच गए। 

पुलवामा जिले के लेथपोरा में सीआरपीएफ का ये ट्रेनिंग सेंटर झेलम नदी के पास में है। पोम्पोर तहसील के लेथपोरा में ही सीआरपीएफ की 110 बटालियन का मुख्यालय भी है। इससे ठीक सटा हुआ पुलिस लाइंस भी है। इस इलाके में आर्मी के विक्टर फोर्स का भी मुख्यालय है तो बीएसएफ का भी सेंटर है। आतंकियों ने जिस इलाके में हमला किया है। वहां जबर्दस्त चौकसी रहती है। बावजूद इसके रात के अंधेरे में आतंकी सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर तक पहुंचने में कामयाब हो गए।