सरकारी बैंकों में जनता का पैसा पूरी तरह सुरक्षित: पीयूष गोयल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून): कार्यवाहक वित्त मंत्री वित्त मंत्री पीयूष गोयल मंगलवार को सार्वजनिक क्षेत्र के 13 बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद ने कहा है कि सरकारी बैंकों में आपका पैसा शत प्रतिशत सुरक्षित है और सरकार सभी 21 सरकारी बैंकों की व्यवहारिकता तय करेगी। उनका कहना है कि बैंक क्रेडिट पर 2 स्तरों से विचार किया जा रहा है। वहीं, एसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनी पर बने पैनल द्वारा भी जल्द अपनी रिपोर्ट दी जाएगी।पीयूष गोयल ने कहा कि सरकार सभी सरकारी बैंकों के पीछे मजबूती से खड़ी है। सरकारी बैंकों को और ज्यादा प्रभावी ढंग से रेग्युलेट किया जा सके, इसके लिए सरकार के पास यह विकल्प भी खुला है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को पहले से ज्यादा अधिकार दिए जाएं। उन्होंने कहा कि आरबीआई के पास अभी भी बहुत ज्यादा अधिकार है लेकिन जरूरत पड़ने पर इसे बढ़ाया जा सकता है।बता दें कि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही के रिजल्ट के बाद पहली बार वित्त मंत्री की सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ मीटिंग थी। चौथी तिमाही में बैंकों का घाटा 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा रहा है। वहीं, बैड लोन भी बढ़ गया है। मीटिंग में सरकारी बैंकों के घाटे, बैड लोन, एआरसी के अलावा रीकैपिटलाइजेशन प्लान को लेकर चर्चा की गई। इसका उद्देश्‍य सरकारी बैंकों की सेहत जल्द से जल्द सुधारना है।

हाल में बैंकों में हुए धोखाधड़ी के कई मामले सामने आने के बाद लोगों का भरोसा बैंकों से उठने लगा है। इस बैठक में बैंकों पर निगरानी रखने के लिए RBI को और अधिक शक्ति देने की बात कही गई। उन्होंने कहा कि बैंकों पर निगरानी के लिए आरबीआई को शक्तियां दी गई है, लेकिन इसे अब और बढ़ाने की जरूरत है।