J&K: प्रदर्शन में घायल 17 साल की लड़की बोली- अब कभी नहीं करूंगी प्रोटेस्ट


नई दिल्ली(24 अप्रैल): जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पिछले हफ्ते छात्रों पर की गई पुलिस कारवाई में कई छात्र घायल हो गए थे। घायलों में 17 साल की इकरा भी थी। दरअसल ये छात्र प्रदर्शन कर रहे थे। 17 साल की इकरा को पुलिस की कारवाई में गंभीर चोटें आईं। वह अस्पताल के बेड पर है। उसके सिर में फ्रैक्चर हुआ है। पट्टियों से सिर ऐसे बंधा है कि सिर्फ आंखे दिखाई दे रही हैं। उसका कहना है कि अब वो कभी विरोध प्रदर्शन नहीं करेगी।


- इक़रा ने बताया कि पिछले हफ्ते सैकड़ों प्रदर्शनकारी छात्रों के साथ इक़रा भी शांतिपूर्ण ढंग से शामिल थी। तभी कुछ छात्रों ने सेना और पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसके बाद सेना की तरफ से जवाबी पत्थरबाजी हुई और एक पत्थर मेरे सिर पर आकर गिरा। मैं वहीं गिर पड़ी और बेहोश हो गई। इक़रा का इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि इसके सिर में गंभीर चोटें आई हैं।


- इक़रा श्रीनगर के नावकदल कॉलेज में कॉमर्स फर्स्ट इयर की स्टूडेंट है। इक़रा की 21 वर्षीय बहन ने बताया कि वो अपने दोस्तों के साथ शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रही थी। हम नहीं चाहते थे कि सुरक्षा बल हमारे कैंपस में आएं। हम यहां पढ़ने के लिए आए हैं। लेकिन प्रदर्शन के दौरान कुछ छात्रों ने सीआरपीएफ के बंकर में चढ़कर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए।