प्रोटेम स्पीकर का चयन हुआ अहम, येदियुरप्पा ने गवर्नर को सौंपा उमेश काठी का नाम

नई दिल्ली (18 मई): कर्नाटक में सत्ता हासिल करने के लिए चल रहा सियासी ड्रामा वाकई काफी हैरतअंगेज मोड़ पर पहुंच चुका है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि कर्नाटक में शनिवार यानी कल ही फ्लोर टेस्ट कराया जाएगा।  

कल शाम चार बजे होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले प्रोटेम स्‍पीकर की नियुक्ति की जानी चाहिए। इसी प्रोटेम स्‍पीकर की देखरेख में 19 मई यानी कल विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराया जाएगा। इसलिए कोर्ट ने किसी पर्यवेक्षक की नियुक्ति नहीं की। ऐसे में सारी निगाहें अब प्रोटेम स्‍पीकर पर टिक गई हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक  प्रोटेम स्पीकर के तौर पर कांग्रेस के आठ बार से कांग्रेस विधायक आरवी देशपांडे का नाम इस रेस में सबसे आगे चल रहा है। आमतौर पर विधानसभा या लोकसभा सचिवालय सदन में सबसे ज्‍यादा समय बिताने वाले वरिष्‍ठ सदस्‍य का नाम इसके लिए प्रस्‍तावित करते हैं। वहीं येदियुरप्पा ने भाजपा के उमेश काठी का नाम गवर्नर को सौंपा है।

वहीं न्यूज 24 ने जब वी देश पांडे से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि उनके पास इसकी कोई जानकारी अबतक नहीं आई है, अगर उनसे कहा गया तो पार्टी से बात करके इसपर फैसला लेंगे।

2014 में जब 16वीं लोकसभा का गठन हुआ था तो नौवीं बार सांसद बने वरिष्‍ठ नेता कमलनाथ को प्रोटेम स्‍पीकर बनाया गया था। इस लिहाज से आठ बार से कांग्रेस विधायक आरवी देशपांडे का नाम भेजा गया है। अब राजभवन को 18 मई की शाम चार बजे तक नाम पर मुहर लगानी होगी।